विवाह जीवन के मुख्य संस्कार में से एक है, जिसके बाद मानव जाति का विकास और पीढ़ी आगे बढ़ने की परम्पर चलती है.

लेकिन विवाह तभी हो पाता है, जब कुंडली में विवाह का योग बनता है – क्योकि हिन्दू धर्म में कहा जाता है कोई भी कार्य तब होता जब उसका समय आता है.

लेकिन कई बार अनेक बाधाओं के कारण भी विवाह में देरी होती है – विवाह योग नहीं बनता. विवाह की बाधाएं हटाने में यह उपाय काम आ सकते है.
आइये जानते हैं कैसे हटायें विवाह की बाधाएं

इस मन्त्र के जाप से विवाह जल्दी होता है और मनवांछित जीवन साथी मिलता है. – पत्नीं मनोरमां देहि मनोवृत्तानुसारिणीम्। तारिणीं दुर्गसंसारसागरस्य कुलोद्भवाम्।।
माता गौरी की मूर्ति या कत्यानी माता की मूर्ति की रोज पूजा कर सुहागन का श्रृगार सामान चढाने से विवाह में देरी और आने वाली बाधा दूर हो जाती है.
मित्र या रिश्तेदार की शादी में पहना विवाह का जोड़ा पहनने पर विवाह का योग जल्दी बनता है.
गणेश जी पर हर बुधवार हल्दी, कुमकुम और पीला चावल चढ़ाकर पूजा करने से विवाह का योग बनता है.
सावन के माह में भगवान शिव पर बेलपत्र पर ओम नमः शिवाय लिखकर बेलपत्र चढ़ाने और सफ़ेद चावल के साथ तांबे के लोटे में पानी अर्पण करने से विवाह में देरी टल जाती है.
गुरूवार को अनार के पौधे की पूजा करके अनार का फुल शिवजी पर चढाने से विवाह योग बनता है.
शुक्रवार या गुरूवार को विवाह जल्दी होने हेतु व्रत करने से और गुरूवार को केले के जड़ को निकालकर पीले वस्त्र में बांधकर ताबीज बनाकर बाजू में बांध लेंने पर भी विवाह बाधाएं दूर हो जाती है.
दुर्गा पूजा और दुर्गा चालीसा पढ़कर दुर्गा मूर्ति पर लाल चुनरी और सुहाग का सामान चढाने से विवाह में देरी टल जाती है.
अगर आप विवाह करना चाहते हैं और विवाह तय नहीं हो पा रहा हो या विवाह में देरी हो रही हो या विवाह की बाधाएं आ रही हो, तो इन उपायों को जरुर आजमाए.

Loading...
loading...
Loading...