‘भगवान तुझे मैं खत लिखता पर तेरा पता मालूम नहीं’ फिल्म मनचला का ये गाना तो आपको याद ही होगा, लेकिन खत का जमाना अब पुराना हो चुका है। अब लोग खत से नहीं बल्कि मोबाइल से फोन लगा कर भगवान से मन्नत मांग रहे हैं। हमारे देश में एक मंदिर ऐसा भी है जहां लोग भगवान गणेश से फोन पर मन्नत मांगते हैं। जानिए क्यों लोग फोन पर भगवान गणेश से मन्नत मांग रहे हैं।

मध्यप्रदेश के इंदौर शहर में गणेश जी का मंदिर 1, 200 साल पुराना है। मंदिर के पुजारी कहते हैं कि उस मंदिर में मन्नत मागने वाला कभी खाली हाथ नहीं जाता। मनोकामना पूर्ण होने की वजह से श्रद्धालु इनमें गहरी आस्था रखते हैं।

इस मंदिर में हर कोई अपने मोबाइल के साथ ही आता है। ऐसा इसलिए क्योंकि उनके भक्त गणेश जी से फोन पर बातें करते हैं। गणेश जी विदेशों में बसे अपने भक्तों से मोबाइल फोन के जरिए बातें करते हैं और उनकी मुरादें पूरी करते हैं।

विदेश में बसे उनके भक्तों को जब कभी संकट या तकलीफ होती है तो वह गणेश जी को याद कर लेते हैं। क्योंकि विदेश से यहां आना हमेशा संभव नहीं होता है इसलिए भक्त मोबाइल फोन से गणेश जी तक अपनी समस्या सांझा कर लेते हैं।

लोगों को गणेश जी से फोन पर बात करने से ही लाभ मिलने लगा तब से प्रचलन शुरू हो गया। मंदिर के पुजारी के अनुसार भक्त पहले पत्रों में अपनी समस्याएं लिखकर भेजते थे, जिन्हें पढ़कर गणेशजी को सुनाते थे। लेकिन बाद में भक्तों ने पुजारी जी के मोबाइल पर फोन भी करना शुरू कर दिया है। इस सिलसिले की शुरुआत के पीछे एक रोचक कहानी भी है।

loading...
Loading...
Loading...