सभी धर्म ग्रंथों में दान का विशेष महत्वहै। यदि कमाकर दान न किया जाए तो सारी कमाई व्यर्थ है। दान हर चीज का किया जा सकता है। व्यक्ति को दान नि:स्वार्थ भाव से करना चाहिए। ज्योतिष शास्त्र में कुछ ऐसी चीजों के बारे में बताया गया है, जिनका दान करना बहुत शुभ होता है।

ज्योतिष के जानकारों की मानें तो अलग -अलग वस्तुओं के दान से अलग-अलग समस्याएं दूर होती हैं, लेकिन बिना सोचे-समझे गलत दान से आपका नुकसान भी हो सकता है. कई बार गलत दान से अच्छे ग्रह भी बुरे परिणाम दे सकते हैं. ज्योतिष के जानकारों की मानें तो वेदों में भी लिखा है कि सैकड़ों हाथों से कमाना चाहिए और हजार हाथों वाला होकर दान करना चाहिए.

इसके साथ यह भी माना जाता है कि दान करने से कई कार्यों में आ रही रुकावटें भी दूर होती है अौर व्यक्ति वैभव व ऐश्वर्य का आनंद लेता है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार गुड़ का दान करने से पूर्वजों का आशीर्वाद मिलता है, जिससे दरिद्रता अौर कलह से सदा के लिए मुक्ति मिल जाती है।

घी का दान करना शुभ अौर मंगलकारी होता है। इसके दान से शरीर में बल की प्राप्ति होती है अौर रोग भी दूर होते हैं। घी के दान से ग्रहों के अशुभ प्रभाव से भी छुटकारा मिलता है।

किसी जरुरतमंद या गरीब व्यक्ति को कपड़ों का दान करें। इससे ऐश्वर्य अौर वैभव मिलता है। इसके साथ ही व्यक्ति को सुख-समृद्धि की भी प्राप्ति होती है। तिल के दान से संकट अौर विपताएं दूूर होती है।

व्यक्ति को हर कार्य में सफलता मिलती है।गेंहू अौर चावल का दान करने से व्यक्ति की हर मनोकामना पूर्ण होती है। इससे घर में सदैव बरकत बनी रहती है।

धातुओं का दान विशेष दशाओं में ही करें यह दान उसी व्यक्ति को करें जो दान की गई चीज का प्रयोग करें धातुओं का दान करने से आई हुई विपत्ति टल जाती है

जो व्यक्ति पत्नी, पुत्र एवं परिवार को दुःखी करते हुए दान देता है, वह दान पुण्य प्रदान नहीं करता है। दान सभी की प्रसन्नता के साथ दिया जाना चाहिए।

जरुरतमंद के घर जाकर किया हुआ दान उत्तम होता है। जरुरतमंद को घर बुलाकर दिया हुआ दान मध्यम होता है यदि कोई व्यक्ति गायों, ब्राह्मणों और रोगियों को दान कर रहा है तो उसे दान देने से रोकना नहीं चाहिए। ऐसा करने वाला व्यक्ति पाप का भागी होता है।

loading...
Loading...
Loading...