हिन्दू परम्परा के अनुसार भाद्रपद पक्ष की अष्टमी तिथि को राधा जन्माष्टमी का पर्व मनाया जाता है. इस बार राधा जन्माष्टमी 29 अगस्त यानी मंगलवार को है.

कहावत है कि जो लोग राधा जन्माष्टमी का व्रत नहीं रखते उन लोगों का कृष्ण जन्माष्टमी के व्रत का फल भी नहीं मिलता. जन्माष्टमी का व्रत भी जोड़े से करने का लाभ श्रद्धालुओं को मिलता है. इस व्रत पर राधा-कृष्णा की प्रतिमा को लगाकर पूजा करना चाहिए.

कहा जाता हे की इस दिन अगर घर में मोर पंख रख लिया जाए तो घर में सदा ऐश्वर्य और प्यार प्रीत कभी कम नहीं होता हे
बरसाना को श्रीराधाजी की जन्मस्थली माना जाता है.

Loading...
Loading...