अक्सर लोगों की यह शिकायत रहती है कि उन्हें अजीबोगरीब सपने आते हैं। कभी-कभी तो ऐसे सपने जिनके बारे में उन्होंने कभी सोचा भी नहीं होता। इतना ही नहीं, उनकी एक समस्या यह भी होती है कि यही सपने उन्हें बार-बार आते हैं। जब एक से अधिक बार वैसा ही सपना आए तो उन्हें यह चिंता सताने लगती है कि क्या वह सपना सच हो जाएगा या फिर सपने में कुछ ऐसी चीज़ हमें दिखती है जिसका मतलब समझना हमारे लिए मुश्किल हो जाता है?

सपनों का सामान्य अर्थ कुछ ऐसा लिया जाता है कि हम दिनभर में जो देखते हैं, जिन घटनाओं का सामना करते हैं और जो सोचते हैं वह हमारे मस्तिष्क के किसी कोने में जाकर बैठ जाता है और रात को वही सपनों के जरिए हमें नजर आने लगता है। सपने में इंसान, जानवर, बेजान वस्तुएं तो दिखती ही हैं, लेकिन देवी-देवताओं से जुड़े सपने का क्या अर्थ होता है? सपने में मंदिर का दिखना या फिर किसी भी धार्मिक स्थल का दिखना, देवी-देवताओं का आना या उनके किसी स्वरूप का दिखना, ऐसे सपने हमें क्या संदेश देते हैं?

दोस्तों जन्माष्ठमी का त्यौहार आने वाला है और हम सब इसकी तैयारी में लगे हुए है ऐसे में यदि सपने में भगवान् श्री कृष्ण दिखाई दे तो इसका क्या संकेत हो सकता है. आइये जानते है –

यदि कोई व्यक्ति सपने में भगवान श्रीकृष्ण को देखता है तो यह बहुत ही शुभ सपना माना जाता है। इसका मतलब यह ही की आपके प्रेम संबंध में सुधार आ सकता है और आपका प्यार आपके करीब आने वाला है और इसके साथ साथ यह सपना जिसे आता है उसे आने वाले कुछ ही दिनों में कोई बड़ी सफलता मिलती है। यह सपना ये बताता है की व्यक्ति के जीवन की कठिनाईया समाप्त होने वाली है. भगवान को सपने में देखने के समान ही किसी बुजुर्ग व्यक्ति या साधु को देखना भी शुभ संकेत मन जाता है.

यदि आप सपने में भगवान् श्रीकृष्ण की प्रिय राधा रानी को देखते है तो इसका मतलब ये है की आपको शारीरिक और मानशिक शान्ति मिलने वाली है और आने वाले समय में सारा तनाव दूर होने वाला है |

loading...
Loading...
Loading...