27 अगस्त सूर्य षष्ठी एक लाल फूल ग़रीबी भी भूल जाये आपके घऱ का रस्ता

27 अगस्त रविवार को सूर्य षष्ठी व्रत है। शास्त्रों के अनुसार भाद्रपद मास से शुक्ल पक्ष में षष्टी तिथि के दिन सूर्य उपासना का विधान दिया गया है। शास्त्रों में षष्ठी तिथि को उपवास करने का विधान है।

इस दिन सूर्य प्रतिमा की पूजा करनी चाहिए। यह व्रत एक वर्ष तक करना चाहिए। प्रत्येक मास में आदित्य के विभिन्न नाम का जाप करना चाहिए। इस दिन विधिवत सूर्य का पूजन करना चाहिए तथा एक समय का नमक रहित भोजन करना चाहिए। इस दिन गंगा स्नान का विशेष महात्म्य है।

पूजन विधि और उपाय: इस दिन प्रातःकाल सूर्योदय से पहले उठ जाएं। नित्यकर्म से निवृत होकर घर की पूर्व दिशा में लाल कपड़ा बिछाएं। रक्तचन्दनादि से मण्डल बनाएं।