दस नामो के जाप से शनिदेव होंगे प्रसन्न

 

शनि देव को न्याय का देवता कहा जाता हैं .वे मनुष्यो को उनके कर्मो के अनुसार शुभ अशुभ फल प्रदान करते हैं. हर व्यक्ति को जीवन में शनि की साढ़ेसाती से गुजरना पड़ता हैं. जीवन में शनि का अशुभ प्रभाव हो तो आपको मेहनत आसानी से नहीं मिलती ,आपको बहुत संघर्ष करना पड़ता हैं. शनि का अशुभ प्रभाव कम करने के लिए शनि की कृपा प्राप्त करने के लिए दान ,व्रत आदि उपाय बताये गए हैं . इनमे से एक उपाय हैं शनिवार के दिन पीपल के पेड़ के पास शनि के नामो का जाप करना ,ऐसा विश्वास हैं की इन नामो का जाप करने से शनि की कृपा मिलती हैं एवं साढ़ेसाती में भी शनि का शुभ प्रभाव मिलता हैं. शनि के नाम हैं:

कोणस्थ पिंगलो बभ्रु: कृष्णो रौद्रोन्तको यम:।
सौरि: शनैश्चरो मंद: पिप्पलादेन संस्तुत:।।

इस मंत्र के अनुसार कोणस्थ, पिंगल, बभ्रु, कृष्ण, रौद्रान्तक, यम, सौरि, शनैश्चर, मंद और पिप्पलाद।
इन दस नामो का जाप करने से शनि की कृपा मिलती हैं और शनि के अशुभ प्रभाव से बचा जा सकता हैं.

 

शनिवार के दिन काले तिल जल में डालकर स्नान करे एवं पीपल के वृक्ष में जल एवं दूध अर्पित करे ,और इन दस नामो का जाप करें. इन दस नामो का जाप मंत्रो के जैसा हैं .