घर पर लगा है ये पौधा और आपको नहीं पता पौधे से जुडी ये 1 बात तो तबाह हो सकती है आपकी ख़ुशी

जन्तु और वनस्पतियां एक दूसरे से बहुत घनिष्ठ रूप से जुड़े हुये हैं। कालक्रम में कुछ वनस्पतियां बहतु उपयोगी पाई गई हैं। इनके प्रय़ोग से जीवन में मनचाही तरक्की पाई जा सकती है। ऐसे ही कुछ पेड़ों में से एक अशोक का पेड़ है।

अशोक का अर्थ होता है- जहां पर शोक न हो, यानी अशोक का पेड़ जहां पर होता है, वहां शोक, दुःख, अशांति अपनी जगह नहीं बना सकते। इसके बजाय उस जगह पर सुख-शांति और बनी रहती है। भगवान श्रीराम ने भी इसे शोक दूर करने वाले पेड़ की उपमा दी है।

कामदेव के पंच पुष्प बाणों में से एक अशोक भी है। भारत में धार्मिक या मांगलिक कार्यों के लिये भी अशोक के पत्तों का प्रयोग किया जाता है। जानिए कैसे आपके बिजनेस में लगातार हो रही धन की हानि दूर होगी और आपके व्यापार की गति बढ़ेगी। कैसे समाज में आपका मान-सम्मान और ऐश्वर्य बढ़ेगा। कैसे आपके काम की सफलता सुनिश्चित होगी। कैसे आपको मंगल के दोषों से मुक्ति मिलेगी और कैसे आपकी बेटी के विवाह में आ रही परेशानियां दूर होंगी

बिजनेस में हानि
अगर आपके बिजनेस में दिन-प्रतिदिन धन की हानि हो रही है और आपका व्यापार बन्द होने की कगार पर है तो अशोक के पेड़ के सात पत्तों को लाकर, उन्हें साफ पानी से धोकर धूप दिखाएं और आंखें बन्द करके अपनी समस्या के निवारण के लिये प्रार्थना करें। अब इन पत्तों को जहां आप पैसे रखते हों, उस स्थान पर रख दें। चौबीस घंटे बाद इन पत्तों को जल में प्रवाहित कर दें। इससे आपके बिजनेस में जल्दी ही वृद्धि होने लगेगी और आपके बिजनेस की गाडी पटरी पर तेजी से दौड़ने लगेगी।

धनलाभ के लिए
घर में पैसों की स्थिति को मजबूत बनाने के लिये किसी शुभ मुहुर्त में अशोक के पेड़ की जड़ को निमन्त्रण देकर ले आयें। जड़ को घर लाते समय मौन रहें। घर में लाकर जड़ को पहले गंगाजल से शुद्ध कर लें, फिर उस जड़ को तिजोरी या जहां भी आप पैसे रखते हों, वहां पर रख लें। इस उपाय से आपके घर में धन की स्थिति पहले की अपेक्षा अधिक सुदृढ़ होगी।

खुश-शांति के लिए
घर में सुख-शांति और समृद्धि बनाए रखने के लिये अशोक के वृक्ष को घर में लगाएं और प्रतिदिन उसकी जड़ में पानी डालें।

सफलता प्राप्त करने के लिए
अगर आप किसी काम को करने के लिए बहुत प्रयासरत हैं, लेकिन आपको सफलता नहीं मिल पा रही है तो आप पुष्य नक्षत्र में अशोक के पेड़ के 11 बीज लेकर उसे एक चांदी के ताबीज में डालकर धारण कर लें। आपको धीरे-धीरे करके हर काम में सफलता मिलने लगेगी।

वास्तु दोषों से निजात पाने के लिए
अशोक का पेड़ वास्तु दोषों से छुटकारा पाने के लिये और घर की निगेटिविटी को दूर करने में भी सहायक है। जिस घर में अशोक का पेड़ लगा होता है, वहां किसी प्रकार की निगेटिव एनर्जी नहीं टिकती और न ही किसी भी प्रकार का भय रहता है। अशोक का पेड़ लगाने के साथ ही शाम के समय पेड़ के नीचे घी और कपूर का दीपक जलाना चाहिए। अशोक के पेड़ को घर की दक्षिण या दक्षिण-पश्चिम दिशा में लगाने से ज्यादा पॉजिटिव रिजल्ट मिलते हैं।

हर काम में सफलता के लिए
अगर आप किसी ऐसे काम को करने जा रहे हैं जो आपके लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है, तो उस काम की सफलता सुनिश्चित करने के लिये अशोक के वृक्ष का एक पत्ता लें और उसे अपने सिर पर रख लें। पत्ता उड न जाये, इसके लिये अपने सिर पर टोपी पहन लें, आपका कार्य अवश्य सफल होगा।

मंगल पीड़ा से निजात दिलाने के लिए
अशोक के पेड़ से मंगल ग्रह की पीड़ा से भी मुक्ति मिलती है। अगर आप भी मंगल के दोषों से पीड़ित हैं तो मंगलवार के दिन हनुमान जी को पांच अशोक के पत्ते चढ़ाएं। आपको जल्दी ही राहत मिलेगी।

बेटी का विवाह जल्दी कराने के लिए
अगर आप अपनी बेटी के रिश्ते को लेकर परेशान हैं या किसी कारणवश उसका विवाह नहीं हो पा रहा है, तो आप इस उपाय से अपनी समस्या का हल निकाल सकते हैं। अशोक के पेड़ के पत्तों को लाकर, कन्या से कहें कि वह उन्हें अपने स्नान के पानी में डालकर उससे स्नान कर ले। ध्यान रखें कि स्नान के समय पत्ते पानी की बाल्टी से बाहर न गिरें। स्नान करने के बाद इन पत्तों को कन्या या परिवार का कोई भी अन्य सदस्य पीपल के पेड़ के नीचे डाल दे। ऐसा रोज करना होगा। यह प्रयोग कम से कम 42 दिन तक जरूर करें। ध्यान रहे पीरियडस के दौरान पांच दिन यह प्रयोग नहीं करना है और 42 दिन में ये पांच दिन नहीं जोड़े जायेंगे। ऐसा करने से जल्दी ही कन्या का विवाह हो जायेगा।