अक्षय तृतीया पर जिसने सुबह जल्दी उठ किया ये काम सात पुस्ते भी उसकी घर बैठ कर खाएंगी

दोस्तों हम इस बात को तो सभी जानते हैं कि हम जो अपने हाथों से दान देते हैं वह कभी भी व्यर्थ नहीं जाता है उसका फल हमें किसी ना किसी रूप मेंं अवश्य ही मिलता है।

किन्तु हमारे शास्त्रों के अनुसार यदि हम अक्षय तृतीया के दिन किसी वस्तु का दान करते हैं तो उसका हमें दोगुणा मिलता फल है इसलिए हमें इसदिन दान अवश्य ही करना चाहिए। इसदिन को भगवान विष्णु जी का दिन माना जाता है। हम आपको बताते हैं कि इस दिन यदि आप एक उपाय करके अपने जीवन में आने वाली परेशानियों से छुटकारा पा सकते हैं और वह उपाय यह है कि आप उस दिन नहा धोकर खीर बनाए उसमें थोड़ी सी हल्दी ड़ाल दें। अब आप 11 कौडिय़ाँ लेकर उनको हल्दी मिले पानी में एक घण्टे के लिए भिगो दें फिर निकालकर पीले कपड़े में बाँध लें।

अब भगवान विष्णु जी की तस्वीर के सामने एक पट्टा लेकर उसपर पीला कपड़ा बिछा लें और उसपर एकाक्षी एक आँख वाला नारियल मोली बाँधकर उसके पास ही कौडिय़ों को रख दें और 11 बार ऊँ श्री विष्णु देवाय नम: मंत्र का उच्चारण करें और खीर का भोग लगाकर उसका प्रसाद सबको बाँट दें। उन कौदियों को उस दिन वही पर रखी रहने दें फिर दूसरे दिन कहीं बहते हुए पानी में ड़ाल दें। और पहली रोटी पर घी, हल्दी और गुड़ रखकर गाय को खिला दें । इससे आप अपने जीवन में आने वाली परेशानियों से छुटकारा पा सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *