आपके मुँह से निकली हर बात मानेगा आपके सामने वाला बस एक बार पहन ले इस चमत्कारी अंगूठी को

जिस इंसान का सूर्य बलवान होता है उसकी एक अलग ही पहचान होती है. वह कहीं भी होता है उसके अलग से चर्चे होते हैं. उसके चेहरे में सूर्य के समान चमक होती है. तथा उसमें इतना आकर्षण होता है वह जो भी कहता है लोग उसकी बात आसानी से मानते हैं.

ऐसे व्यक्ति को बहुत ज्यादा मान सम्मान समाज में प्राप्त होता है. यही कारण है व्यक्ति के जीवन में सूर्य ग्रह का मजबूत होना आवश्यक है. यदि सूर्य ग्रह मजबूत होगा तो आप ज्यादा सफलता और ऊंचाइयां प्राप्त कर पाएंगे. सूर्य ग्रह मजबूत होने से व्यक्ति का भाग्य तो प्रबल होता ही है इसके साथ ही साथ उस व्यक्ति के चेहरे और उसके व्यक्तित्व पर जो निखार होता है हर कोई उसके आकर्षण में फस जाता है .

सिर्फ वह व्यक्ति जो कुछ भी कहता है हर कोई उसकी बात मानने लगता है. यदि आप धन से संबंधित अथवा नौकरी से संबंधित किसी समस्या से परेशान रहते हैं और इससे बचना चाहते हैं तो सूर्य ग्रह का बलवान होना आपके भाग्य के लिए बहुत आवश्यक है. इसीलिए दोस्तों अपनी कुंडली में सूर्य ग्रह को मजबूत करने के लिए आप काले घोड़े की नाल की बनी यह अंगूठी पहन सकते हैं. परंतु यह अंगूठी आप अपनी उंगली में ऐसे ही धारण ना करें. इसे सिद्ध करके ही आप अपनी उंगली में धारण करें तभी आपको इसका पूर्ण फल मिलेगा.

इस अंगूठी को खरीद कर आप अपने घर ले आए तथा शनिवार वाले दिन इसे आप अपने घर के मंदिर में रख दें. गंगाजल मैं थोड़ा सा दूध मिलाकर तांबे के लोटे में रख दे उस लोटे में आप काले घोड़े की नाल की अंगूठी डाल दे. अब आप ॐ शं शनिचराय नमः मन्त्र का अपने मन में 108 बार जप करें. मंत्र जाप पूर्ण होने के बाद आप उस अंगूठी को शनिवार वाले दिन के 12:00 बजे के बाद अपने सीधे हाथ की रिंग फिंगर में डाल दे. यदि आप ऐसा करते हैं तो आपको बस एक-दो दिन में ही इसका असर दिखने लग जाएगा. इसके अलावा आपको अपने चेहरे पर भी इसका असर दिखेगा. आपके चेहरे में एक अलग तरह का आकर्षण होगा तथा हर कोई आप को मान सम्मान देगा और आपकी बात को मानेगा. इसके साथ ही आपके हर कार्य खुद-ब-खुद सफलता मिलने लगेंगे. हर कार्य में आपको तरक्की मिलेगी.

दोस्तों यदि आप असली घोड़े की नाल की बनी अंगूठी खरीदना चाहते है तो निचे दिए लिंक पर क्लिक करे.

घोड़े की नाल की बनी अंगूठी

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *