परेशानी तो दूर मृत्यु भी पास नहीं भटकेगी सारी दुनिया की खुसी चाहिए तो करे अभी ये एक काम

दोस्तों हर कोई चाहता है की उसके पास हमेसा पैसा बना रहे है और कभी भी उसे किसी चीज़ की कमी न हो. इसके लिए व्यक्ति कड़ी मेहनत करता है परन्तु कभी कभी लाखो प्रयासों के बावजूद हमें समझ नहीं आता की आखिर क्यों हम अमीर नहीं बन पा रहे है.

जबकि हम वह सब कुछ कर रहे है जो लोग पैसे कमाने के लिए करते है परन्तु हमेसा पैसो की समस्या बनी ही रहती है. दोस्तों यदि आपके साथ भी कुछ ऐसा है तो इसका मुख्य कारण है शुक्र ग्रह.

जिस व्यक्ति के कुंडली पर शुक्र सही स्थित में नहीं होती वह हमेसा पैसो से जुडी समस्या में ही घिरा रहता है. शुक्र की स्थिति ही व्यक्ति को गरीब और अमीर बनाये रखती है. ज्योतिष शास्त्र के अनुसार यदि शुक्र ग्रह को किसी तरह प्रभावित कर आप अपने अनुकूल बना ले तो ऐसे में व्यक्ति को फिर पैसो की कमी नहीं रह जाती. माता लक्ष्मी स्वयं अपनी कृपा दृष्टि ऐसे व्यक्ति पर रखती है.

शुक्र को व्यक्ति के कुंडली के अनुकूल बनाने का अचूक उपाय करोड़ो वर्ष पहले ही हमारे ज्ञानी महऋषियो ने अपने तपो बल से प्राप्त कर लिया था. दोस्तों आज कलयुग में इस दिव्य रत्न को स्फटिक के नाम से जाना जाता है.

दोस्तों पुराणों में यह वर्णन है की स्फटिक से बनी माला से सुबह के समय यदि इस कुबेर मन्त्र का 108 बार जप किया जाए तो व्यक्ति के घर स्वयं साक्षात् कुबेर देव जी का वास हो जाता है. यानी की ऐसे घर में पैसो की कमी नहीं रह जाती और वह घर रातोरात उन्नति करने लगता है.

” ॐ यक्षाय कुबेराय धन धान्याधिपतये धनधान्या समृद्धि देहि दापय स्वाहा।”

परन्तु ध्यान रखे दोस्तों स्फटिक की माला अभिमंत्रित होनी चाहिए तथा इस मन्त्र का जाप आप केवल रविवार के सुबह ही करे.
स्फटिक की माला धारण करने मात्र से व्यक्ति के पास आने वाली सभी बुरी ऊर्जा उसी समय नष्ट हो जाती है क्योकि स्फटिक के संरचना सिलिकन और ऑक्सीज़न के एटम से बनी होती है , जब कोई बुरी नजर या बुरी शक्ति स्फटिक माला के स्नो और वाइट क्रिस्टल से टकराती है तो इस माला की ऊर्जा उन्हें रोक वही पर नष्ट कर देती है. इतना ही नहीं स्फटिक माला को धारण करने से बीमारिया भी खत्म हो जाती है. पुराने समय में हमारे ऋषि, मुनि और वेद इसके भस्म का इस्तेमाल बहुत सारी बीमारियों के उपचार में किया करते थे .

स्फटिक माला व्यक्ति को भुत, प्रेत आदि बुरी शक्तियों से आप के आस पास रक्षा कवच बनाकर आपको बचाता है.

असली स्फटिक माला की यह खासियत होती है की इसे चाहे कितनी ही कड़ी धुप में रख लो यह कभी गर्म नहीं होगा ठंडा ही रहेगा. यह रत्न ठंडी प्रवति का होता है. जो भी इस माला को धारण करता है उसका मन सदैव शांत और तनाव मुक्त रहता है.

दोस्तों स्फटिक माला की विशेषता केवल ज्योतिष में ही नहीं बल्कि विज्ञान भी इस माला के अद्भुत गुणों को स्वीकार्य करता है. विज्ञान के अनुसार स्फटिक माला हमारे शरीर के प्रतिरक्षा तंत्र को मजबूत बनता है जिससे की हमें बीमारिया नहीं होती इसके साथ ही यह इंसान के रक्तचाप को ठीक रखता है.
स्फटिक माला खरीदने के लिए यह क्लिक करे

स्फटिक माला

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *