बीमारी तो क्या मौत भी रहेगी कोसो दूर जिस दिन गले में पहनी ये चमत्कारी माला

दोस्तों सनातन हिंदू धर्म में तुलसी को पवित्र एवं पुण्यदायिनी माना गया है। इसका हमारे जीवन में आध्यात्मिक तथा आयुर्वेदिक दृष्टि से विशेष महत्व है। इसकी पूजा, अर्चना करने से, तथा देव पूजन में भगवान विष्णु को अर्पण करने से अनंत पुण्य की प्राप्ति होती है।

दूसरी ओर इसके उपयोग से रोग, शोक, ताप, पाप की शांति होती है। दोस्तों तुलसी अपने नाम के अनुसार ही श्यामवर्ण की होती हैं तथा रामा तुलसी हरित वर्ण की होती है। तुलसी की माला गले में धारण करने से अनेक लाभ प्राप्त होते हैं। तुलसी की माला धारण करने से विशेष रूप मानसिक शांति प्राप्त होती है। ईश्वर के प्रति श्रद्धा-भक्ति बढ़ती है। मन में सकारात्मक भावना का विकास होता है। और साथ ही माँ लक्ष्मी की कृपा भी बनी रहती है।आध्यात्मिक उन्नति के साथ ही पारिवारिक तथा भौतिक उन्नति होती है।

दोस्तों जिस व्यक्ति के गले में यदि तुलसी की माला हो तो उस व्यक्ति को कोई भी बुरी शक्ति छू भी नहीं शक्ति तथा हमेशा उस व्यक्ति पर भगवान की दिव्य शक्ति रहती है और और आयुर्वेद में भी तुलसी को बहुत ही बड़ी औषद्धि का दर्जा दिया गया है दोस्तों इस माला को गले में डालने से भी कई बीमारियों से छुटकारा मिल जाता है ।

तुलसी माला खरीदने के लिए यहां क्लिक करे

इस माला को शुभ वार, सोम, बुध, वृहस्पतिवार को गंगाजल से शुद्ध करके धारण करना चाहिए। रामा तुलसी माला: इस माला को विशेष रूप से देवपूजा, यज्ञकर्म, अध्ययन आदि में सफलता प्राप्ति के लिए धारण करना चाहिए, उसे धारण करने से व्यक्ति के अंदर आत्मविश्वास में वृद्धि, तथा सात्विक भावनाएं जागृत होती हैं। अपने कर्तव्य पालन के पति मदद मिलती है। इस माला को शुभ वार, सोम, गुरु, बुध को गंगाजल से शुद्ध करके धारण करना चाहिए।

शास्त्रों के अनुसार तुलसी माला, भगवान विष्णु, राम, कृष्ण, शिव देवी, हनुमान आदि देवताओं के भक्त, उपासक सात्विक भोजन करने वाले व्यक्तियों को धारण करने से विशेष शुभ फल की प्राप्ति होती है। प्राप्ति स्थान: फ्यूचर पाॅइंट कार्यालय से आप चांदी से जड़ित शुद्ध तुलसी माला प्राप्त कर सकते हैं।

तुलसी माला खरीदने के लिए यहां क्लिक करे

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *