महा गायत्री मंत्र जपे इस समय फिर देखे चमत्कार बन जाओगे //gaytri mantra

हिंदू धर्म में गायत्री महामंत्र को शास्त्रों में वेदों का सबसे श्रेष्ठ और कारगर मंत्र बताया गया है। गायत्री महामंत्र को वेदमाता कहा जाता है। गायत्री महामंत्र का जाप हिंदू धर्म में हर घर में प्रत्येक दिन होता है, हिंदू धर्म के अनुसार गायत्री महामंत्र का जाप करने से जीवन में कई तरह की समस्याओं का अंत होता है।

गायत्री महामंत्र में कुल 24 अक्षर है और यह 24 अक्षर ,24 शक्तियों, सिद्धियों के प्रतीक हैं, यही कारण है कि ऋषियों ने गायत्री महामंत्र को जगत में सभी प्रकार की कामनाओं की पूर्ति करने वाला बताया है।

वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक करे

गायत्री महामंत्र का पहला जाप सूर्य उदय से पहले शुरू किया जाता है, वही मंत्रों का दूसरा समय दोपहर और तीसरा समय शाम को सूर्य अस्त से कुछ पहले करना बहुत शुभ होता है। अगर किसी व्यक्ति को लगातार व्यापार व नौकरी मे नुकसान हो रहा है तो उसके लिये गायत्री महामंत्र का जाप बहुत फायदेमंद साबित होता है।

छात्रों के लिए यह मंत्र बहुत ही फायदेमंद होता है। स्वामी विवेकानंद का भी कहना है कि गायत्री महामंत्र सद्बुद्धि का मंत्र है, इसीलिए इस मंत्र को मंत्रों का मुकुट मंत्र कहा गया है। मेरे द्वारा बताई गई जानकारी आपको कैसी लगी, कृपया कमेंट करके अवश्य बताएं। मुझे फॉलो करना ना भूलें, कमेंट अवश्य करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *