आज रात इस समय लेंगे श्री कृष्ण जन्म और उस समय चढ़ा दी ये 1 चीज़ तो खुद कान्हा करेंगे हर मनोकामना पूरी

जन्माष्टमी की रात भगवान श्रीकृष्ण को चढ़ा देना 3 में से कोई एक वस्तु आपकी सारी मनोकामना होगी तत्काल पूरी मित्रों सादर जय श्री कृष्ण हमारे YouTube चैनल में आप सभी का बहुत बहुत स्वागत है भाद्रपद मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि मध्य रात्रि ठीक 12:00 बजे भगवान का प्राकट्य हुआ था और भगवान का जब प्रगति हुआ था

वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक करे

तो उस काल को जो है भगवा उनका जन्म उत्सव जन्म समय कहा जाता है इस समय भगवान जो है जन्म लेते ही यदि कोई व्यक्ति उनको यह वस्तुएं चढ़ा देता है तो निश्चित तौर से जो है उसकी समस्त मनोकामनाएं पूर्ण और उस समय जो भी मांगेगा भगवान उसको तत्काल प्रदान कर देंगे क्योंकि भगवान तो भाव के भूखे हैं यदि आप भावना से उनको यह तीन में से कोई भी एक वस्तु चढ़ा देंगे तो निश्चित तौर पर आप जो भी इच्छाएं होगी लाला पूरी कर देंगे और कन्हैया की कृपा से आपके जो है

सारे काम लगातार बनते जाएंगे तो मित्रों की सबसे पहली वस्तु है पंचामृत सबसे ज्यादा प्रिय होती है पंचामृत की विधि हमने आपको इस वीडियो के लिंक में जो है डिस्क्रिप्शन में बताई गई है वहां पर जाकर गा पंचामृत बनाने की विधि देखिएगा और उसमें तुलसी का पत्ता जरूर देखना है और दूसरी वस्तु है भगवान को माखन मिश्री सबसे अधिक प्रिय होता है उसमें आप तुलसी का पत्ता अवश्य करके भगवान को चढ़ा दीजिएगा माखन मिश्री बनाने की विधि भी हमने आपको डिस्क्रिप्शन में हमारे दूसरे चैनल की लिंक दी है

उसको आप जरूर देखिएगा और तीसरी वस्तु है धना पंजीरी धना जो कि हमारे बगार में और सब्जी में काम आता है उस धनी की विश्व में धनी पंजीरी बनाई जाती है उसकी विधि भी हमने आपको डिस्क्रिप्शन में बताई गई है उस लिंक को आप देखेंगे तो वहां पर आपको पता चलेगा कि आप को पंचामृत माखन मिश्री और धनिया पंजीरी कैसे बनाना है यह सब सामग्री आप तैयार करके 12:00 बजे जैसे ही भगवान का जन्मोत्सव हो उसके समय उसी समय यदि आपने चढ़ा दिया और उसमें तुलसी पत्र अपनी डाल करके भगवान से प्रार्थना कर ली तो आपकी समस्त मनोकामनाएं पूर्ण हो जाएगी हमारे ज्ञानवर्धक वीडियो को अधिक से अधिक लोगों को शेयर करिएगा लाइक करिएगा कमेंट करिएगा और यदि अभी तक आपने सब्सक्राइब नहीं किया है तो इसी समय आपको और आपके परिवार को

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *