घर के पायदान में रख दे ये चीज़, गरीबी भटकेगी भी नहीं घर के पास

दोस्तों हमारे घर को सजाने में वास्तु शास्त्र का बहुत ही ज्यादा महत्व है।अगर हम अपने घर को वास्तु शास्त्र के अनुसार रखें वहां सामान सजाएं तो यह हमारे लिए बहुत ही लाभकारी होता है। इससे हमारे घर पर माता लक्ष्मी और धन के देवता कुबेर की बड़ी कृपा होती है। आज के इस पोस्ट में हम आपको बताने वाले हैं कि कौन सी चीज है जिसे करने से घर में लक्ष्मी की कृपा बनी रहती है।

अपने घर के मुख्य द्वार को सजा कर रखे और दरवाजे के पास जूट चप्पल न रखें और घर के दरवाजे के पास एक काले रंग का पायदान जरूर रखें इससे घर में नजर नहीं लगता ,सकारात्मकता आती है और घर में लक्ष्मी का प्रवेश होता है साथ ही प्रवेश द्वार के पास गंदगी ना फैलाएं कूड़ा कचरा साफ करके रखें उसे खूबसूरत फूलों से सजा के रखे।

घर की औरतों को उसके घर के मुख्य द्वार पर सुबह उठकर झाड़ू लगाना चाहिए सुर साथ ही हल्दी का पानी छिड़कना चाहिए। घर के पायदान को साफ करके रखना चाहिए ।ऐसा करने से आपके घर में जो भी नेगेटिव एनर्जी आती है, टोने टोटके होता है वह खत्म हो जाते हैं।

दोस्तों अगर आपके जीवन में लगातार आसफलता आती है, आप कुछ भी करने करने को सुख सुविधा और सफलता नहीं आ रही है तो आप यह एक उपाय करके देखें । घर के पायदान के नीचे पुरिया में फिटकिरी रखते रख दे और पुरिया पायदान के बीचो-बीच होनी चाहिए। इससे घर में सकारात्मक ऊर्जा का प्रवेश होता है और सफलता पैसा सब मिलता है।

शरीर में जन्म से हो ये निशान तो भगवान आपके हर समय होते है साथ

समुद्र शास्त्र में हर प्रकार के व्यक्ति से जुड़ी बहुत सी जरूरी बातें लिखी हुई हैं. और आज हम आप सभी को कुछ ऐसे विशेष लक्षणों के बारे बता रहे हैं इनसे ये पता किया जा सकता है कि व्यक्ति अमीर बनेगा या नहीं। आप सभी को बता दें कि हर व्यक्ति में शरीर पर कुछ ऐसे विशेष निशान होते हैं जिनकी सहायता से ये पता चलता है कि व्यक्ति पैदा होते ही सुख संपत्ति लेकर आया है।

जानते हैं शरीर पर उपस्थित सभी चिन्हों के बारे में –

1. जिस व्यक्ति की हथेली बिल्कुल बीच में तोमर, बाण, रथ, चक्र, या ध्वज का चिन्ह बना हो तो उस व्यक्ति को राज करने के कई मौके मिलते हैं।

2. यदि किसी व्यक्ति की हथेली की ठीक बीच में एक तिल हो तो वो अपने जीवन में धन और मान प्राप्‍त करता है।

3. यदि किसी व्यक्ति के पैर में किसी तरह का चक्र या कमल का चिन्ह होता है, तो उस व्यक्ति के पास कभी धन की कमी नहीं होती है।

4. और अगर किसी के पैरों के तलवे पर तिल बना हो तो ऐसे व्यक्ति बहुत ही अच्छे शासक बनते हैं.

5. जिस व्यक्ति की बीच की अंगुली के ठीक नीचे मणिबंध तक फैली रेखा एक दम अच्छी हो तो उस को हर प्रकार का सुख और यश प्राप्त होता है।

ये हनुमान मन्त्र आज रात सोने से पहले एक बार जपले सुबह देखे चमत्कार

नमस्कार दोस्तों हमारे चैनल में आपका हार्दिक स्वागत है दोस्तों प्रत्येक काम में सफलता प्राप्त करने के लिए हनुमान जी का आशीर्वाद अति आवश्यक है

हनुमान जी शक्ति तथा बल और बुद्धि प्रदान करते हैं अगर हम कभी अपनी जिंदगी में कहीं किसी मजबूरी में फंस जाते हैं तो हनुमान जी हमें हर मुसीबत से बाहर निकाल देते हैं उसके लिए दोस्तों आपको बस इन मंत्रो का जाप करना है.

चाहे कोई बुरी से बुरी बुरी बला है यह कोई बुरी परेशानी में फंस चुके हो तो यह एक मंत्र आपको उस हर परेशानी से बाहर निकल लाएगा.घर में किसी भी समय आपको इस मन्त्र का हनुमान जी के समाने 21 बार जप करना है तो आपके सभी बिगड़े काम पूरे होंगे इसके साथ ही आपको हनुमान जी के साक्षात् कृपा प्राप्त होगी.

आप जिस किसी भी कार्य में हाथ रखेंगे वह अवश्य पूर्ण हो जाएगा. आपको मंगलवार की रात हनुमान जी के समाने एक लाल आसन पर बैठकर” हं हनुमंते रुद्रात्मकाय हंफट” मन्त्र का 21 बार जप करना है. आप खुद इसका फर्क इस मन्त्र जाप के बाद अपने आप में देखना महसूस कर देंगे. जो भी महत्वपूर्ण कार्य के लिए आप जा रहे हो इस मन्त्र का बस जाप करे आपके कार्य शत प्रतिशत सफल होंगे.

अपने तिजोरी के अंदर भूल से भी ना रखे ये चीज़ रातोरात खाली हो जाती है भरी तिजोरी भी

व्यक्ति के जीवन में एेसी कई छोटी-छोटी मुश्किलें आती रहती हैं, जिसके कारण उन्हें कुछ परेशानियों का सामना करना पड़ता है। लेकिन यदि व्यक्ति वास्तु की कुछ बातों को अपने दैनिक जीवन में अपना लें तो इन परेशानियां का हल निकाला जा सकता है। यहां जानें वास्तु से जुड़ी छोटी-छोटी बातें, जिनका दैनिक जीवन में काफी अधिक महत्व माना गया है। इनकी मदद से बुरे समय को भी दूर किया जा सकता है।

तिजोरी के ऊपर कोई भी सामान न रखें व तिजोरी के एकदम ऊपरी वाले खाने (हिस्से) में पैसा न रखें।

घर में स्टोर रूम और बाथरूम के पास पूजा कक्ष नहीं होना चाहिए।

घर के जिस हिस्से में वास्तु दोष हो, वहां सुबह-शाम कुछ समय के लिए शंख बजाएं। यदि आप चाहे तो पूजा की घंटी भी बजा सकते हैं। इनसे निकलने वाली ध्वनि से वातावरण की नकारात्मक ऊर्जा नष्ट हो जाती है।

कुछ वृक्ष और पौधे दूध वाले होते हैं जैसे- आंकड़े का पौधा, बरगद। इस तरह के वृक्ष घर-आंगन में नहीं होने चाहिएं। इनसे वास्तु दोष उत्पन्न होता है। ये हमारे स्वास्थ्य के लिए भी हानिकारक होते हैं।

घर में तुलसी होना बहुत शुभ रहता है। रोज सुबह-शाम तुलसी के पास दीपक लगाएं।

घर में बंद या खराब घड़ी भी नहीं रखनी चाहिए। इसके अशुभ प्रभाव से भाग्य का साथ नहीं मिल पाता है।

घर के पूजन स्थल पर सुबह-शाम घी का दीपक लगाने चाहिए। इससे भाग्य संबंधी लाभ मिलते हैं और इस दीपक का धुआं वातावरण की हानिकारक तरंगों और सूक्ष्म कीटाणुओं को नष्ट करता है।

पलंग के नीचे फालतू सामान या जूते-चप्पल नहीं रखने चाहिए। इससे ऊर्जा का मार्ग अवरुद्ध होता है।

तिजोरी में मुकदमे या वाद-विवाद से संबंधित कागजात नहीं रखने चाहिएं।

घर के पूजन स्थल के ऊपर कोई सामान नहीं रखना चाहिए। पूजन कक्ष उत्तर दिशा में या पूर्व दिशा में शुभ रहता है।

परिवार के मृत सदस्यों के चित्र पूजन कक्ष में नहीं रखने चाहिए। पूर्वजों के चित्र नैऋत्य कोण (पश्चिम-दक्षिण) में या पश्चिम दिशा में रखे जा सकते हैं।

घर में टूटा हुआ दर्पण नहीं रखना चाहिए। दो दर्पण एक-दूसरे के आमने-सामने भी नहीं लगाने चाहिएं।

यदि तिजोरी का दरवाजा उत्तर या पूर्व दिशा की ओर खुलता है तो यह बहुत शुभ होचा है।

शयन कक्ष में रात के समय जूंठे बर्तन नहीं रखने चाहिए। जो लोग बैडरूम में जूंठे बर्तन रखते हैं, उन्हें धन और स्वास्थ्य संबंधी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।

घर में बीम के नीचे बैठकर खाना नहीं खाना चाहिए। बीम के नीचे सोना भी नहीं चाहिए।

बहुत शक्तिशाली है ये माला पहनने के 24 घंटे में देखे असर रातोरात रोडपति को भी बनता है करोड़पति

दोस्तों हर कोई चाहता है की उसके पास हमेसा पैसा बना रहे है और कभी भी उसे किसी चीज़ की कमी न हो. इसके लिए व्यक्ति कड़ी मेहनत करता है परन्तु कभी कभी लाखो प्रयासों के बावजूद हमें समझ नहीं आता की आखिर क्यों हम अमीर नहीं बन पा रहे है.

जबकि हम वह सब कुछ कर रहे है जो लोग पैसे कमाने के लिए करते है परन्तु हमेसा पैसो की समस्या बनी ही रहती है. दोस्तों यदि आपके साथ भी कुछ ऐसा है तो इसका मुख्य कारण है शुक्र ग्रह.

जिस व्यक्ति के कुंडली पर शुक्र सही स्थित में नहीं होती वह हमेसा पैसो से जुडी समस्या में ही घिरा रहता है. शुक्र की स्थिति ही व्यक्ति को गरीब और अमीर बनाये रखती है. ज्योतिष शास्त्र के अनुसार यदि शुक्र ग्रह को किसी तरह प्रभावित कर आप अपने अनुकूल बना ले तो ऐसे में व्यक्ति को फिर पैसो की कमी नहीं रह जाती. माता लक्ष्मी स्वयं अपनी कृपा दृष्टि ऐसे व्यक्ति पर रखती है.

शुक्र को व्यक्ति के कुंडली के अनुकूल बनाने का अचूक उपाय करोड़ो वर्ष पहले ही हमारे ज्ञानी महऋषियो ने अपने तपो बल से प्राप्त कर लिया था. दोस्तों आज कलयुग में इस दिव्य रत्न को स्फटिक के नाम से जाना जाता है.

दोस्तों पुराणों में यह वर्णन है की स्फटिक से बनी माला से सुबह के समय यदि इस कुबेर मन्त्र का 108 बार जप किया जाए तो व्यक्ति के घर स्वयं साक्षात् कुबेर देव जी का वास हो जाता है. यानी की ऐसे घर में पैसो की कमी नहीं रह जाती और वह घर रातोरात उन्नति करने लगता है.

” ॐ यक्षाय कुबेराय धन धान्याधिपतये धनधान्या समृद्धि देहि दापय स्वाहा।”

परन्तु ध्यान रखे दोस्तों स्फटिक की माला अभिमंत्रित होनी चाहिए तथा इस मन्त्र का जाप आप केवल रविवार के सुबह ही करे.
स्फटिक की माला धारण करने मात्र से व्यक्ति के पास आने वाली सभी बुरी ऊर्जा उसी समय नष्ट हो जाती है क्योकि स्फटिक के संरचना सिलिकन और ऑक्सीज़न के एटम से बनी होती है , जब कोई बुरी नजर या बुरी शक्ति स्फटिक माला के स्नो और वाइट क्रिस्टल से टकराती है तो इस माला की ऊर्जा उन्हें रोक वही पर नष्ट कर देती है. इतना ही नहीं स्फटिक माला को धारण करने से बीमारिया भी खत्म हो जाती है. पुराने समय में हमारे ऋषि, मुनि और वेद इसके भस्म का इस्तेमाल बहुत सारी बीमारियों के उपचार में किया करते थे .

स्फटिक माला व्यक्ति को भुत, प्रेत आदि बुरी शक्तियों से आप के आस पास रक्षा कवच बनाकर आपको बचाता है.

असली स्फटिक माला की यह खासियत होती है की इसे चाहे कितनी ही कड़ी धुप में रख लो यह कभी गर्म नहीं होगा ठंडा ही रहेगा. यह रत्न ठंडी प्रवति का होता है. जो भी इस माला को धारण करता है उसका मन सदैव शांत और तनाव मुक्त रहता है.

दोस्तों स्फटिक माला की विशेषता केवल ज्योतिष में ही नहीं बल्कि विज्ञान भी इस माला के अद्भुत गुणों को स्वीकार्य करता है. विज्ञान के अनुसार स्फटिक माला हमारे शरीर के प्रतिरक्षा तंत्र को मजबूत बनता है जिससे की हमें बीमारिया नहीं होती इसके साथ ही यह इंसान के रक्तचाप को ठीक रखता है.

दोस्तों यदि आप अभिमंत्रित ओरिजनल स्फटिक माला खरीदना चाहते है तो आप निचे दिए लिंक से इसे अपने घर मंगा सकते है.

ओरिजनल स्फटिक माला

लाखो में 1 होती है ऐसी लड़की जिसके पास हो ये निशान घर, गाडी, पैसा शादी के बाद हर चीज़ होती है पास

समुद्रशास्‍त्र के अनुसार किसी भी व्यक्ति की शारीरिक संरचना को देखकर उसके अंदर समाए गहरे से गहरे राज भी जाने जा सकते हैं। ज्योतिष की शाखा समुद्रशास्‍त्र के माध्यम से महिला पुरूषों के अंगों को देखकर उनकी किस्मत और आचार-व्यवहार को जाना जा सकता है। महिलाओं में प्रकृतिक रूप से कुछ योग्यताएं होती हैं, जिनके आधार पर ये जाना जा सकता है की शादी के बाद उनका व्यक्तित्व उनके पति पर क्या प्रभाव डालेगा। जब भी आप लड़की देखने जाएं तो लड़की के इन गुणों पर अवश्य गौर करें।

कानों में लाल‌िमा की आभा हो तो ऐसी लड़कियां किस्मत वाली होती हैं।
पैर का अंगूठा गोल, उठा हुआ, गुदगुदा और मोटा होना समृद्ध होता है।
लंबे हाथों वाली कन्या सुलक्षणा होती हैं।
गहरी नाभ‌ि वाली कन्याएं भाग्यवान होती हैं।
जन्मजात शुभ कन्या की आंखों का सफेद भाग दूध‌िया होता है।
जिन लड़के और लड़की दोनों के कान नीचे की ओर नुकीले लेक‌िन ऊपर की ओर चौड़े और फूले हुए हों उनके पास रूपए-पैसे की कभी कोई कमी नहीं रहती।
च‌िकने और समतल पैरो वाली कन्याएं शुभ होती हैं। फटी एड़‌ियों वाली लड़कियां न केवल अशुभ होती हैं बल्कि धन की भी हानि होती है जहां इनके पैर पड़ जाएं।
आगे से उठे हुए सिर वाली लड़कियां भाग्यवान होती हैं।
भौहों के मध्य मस्से अथवा त‌िल का होना अच्छा होता है।
च‌िकनी और लाल जीभ सुख और सौभाग्य का प्रतीक है।
छोटी गर्दन वाली कन्या भाग्यशाली होती है।
नाक के अगले भाग पर लाल मस्से का चिन्ह मंगलप्रद होता है।
लाल होंठों वाली कन्या जहां रहती है वहीं दैवलाभ देती है।

सीधी और आगे बढ़ी हुई नाक लकी होती है।

घर के बाहर काजल से लिखे ये 1 अक्षर, दुश्मन परेशान करना तो दूर आपके आस पास भी नहीं भटकेगा

दोस्तों आज हम आपको बताएंगे एक बहुत विशेष प्रकार का उपाय जिससे आपके घर में चाहे कैसी भी मुसीबत हो आपको उससे केवल क्षण भर में मुक्ति मिलेगी. काफी बार ऐसा होता है की व्यक्ति पर किसी न किसी तरह दुसरो की बुरी नज़र लग ही जाती है जैसे आप कोई नई चीज़ खरीद के लाए और उसे आपके पड़ोसी या किसी ने देख लिया तो भले ही उनकी मंशा आप पर नज़र लगाने की न हो पर फिर भी बुरी नजर लग ही जाती है या फिर किसी अन्य कारणों इसे.

दोस्तों जब बुरी नज़र लग जाती है तो घर में गड़बड़ होनी आरम्भ हो जाती है यानी की छोटा या बड़ा कोई न कोई नुक्सान होने लगता है. घर पर इतनी सारी मुसीबत आने लगती है की घर पर जितने भी सदस्य होते है वह परेशान रहने लगते है. कुछ भी चीज़े करते है उनमे सफलता हासिल होने में मुश्किल आने लगती है. इस तरह घर में पूरी अव्यवस्थता फेल जाती है. इसलिए दोस्तों जो प्रयोग हम आपको बताने जा रहे है उसे आप एक बार अपने घर पर अवश्य करे. इससे नहीं बुरी शक्ति का असर होता है और ना ही धन हानि होती है. अगर आपके घर में क्लेश या बात बात पर लड़ाई झगड़े होते है या पैसो से संबंधित कोई परेशानी चल रही हो तो एक बार आप इस उपाय को अवश्य करे.

दोस्तों आपको एक मिटटी का दीपक लेना है ध्यान यह रखे की यह दीपक कही से भी टुटा हुआ नहीं हो. एक साफ़ और बड़ा दीपक आप ले जिससे आप उसे पूरी रात के लिए जला सके. इसके बाद दोस्तों आपको मंगलवार या शनिवार में से कोई भी एक दिन चुन लेना है. इस दीपक को आपको हनुमान जी के सामने जलाना है तथा दीपक को जलाने के लिए आप सरसो अथवा चमेली के तेल का इस्तेमाल कर सकते है. इस दीपक में आपको 9 लॉन्ग भी डालने है और इस दीपक को जलाकर आपको हनुमान चालीसा 11 बार पढ़नी है. हनुमान चालीसा पढ़कर आप इस दीपक के लो पर कुछ लोहे की चीज़ लगा दे जिससे की उसमे काजल इकट्ठा होने लगे.

जब भी दीपक जलता है तो उसमे से काली लो निकलती है जिससे वह लोहे पर इक्क्ठी हो जायेगी और आपके लिए काजल बन जाएगा.
दोस्तों आपको दीपक को पूरी रात जलाये रखना है दोस्तों अब सुबह जल्दी उठ स्नान आदि कर पहले अपने मंदिर में पूजा करे. उसके बाद आप अपने घर के बाहर काजल से स्वास्तिक का छोटा सा निशान बना दे. दोस्तों काजल वही प्रयोग में लाये जो आपने दीपक से बनाई थी. दोस्तों मंगलवार या शनिवार के अगले दिन आपको काजल से स्वास्तिक बनाना है. ऐसा करना से तुरंत घर की लगी बुरी नजर नष्ट होती है इसके साथ ही अन्य कोई भी बुरी शक्ति घर में कदम नहीं रख पाती है. घर में सकरात्मक ऊर्जा फैलती है और सभी प्रकार की बुरी नज़र उतर जाती है. जिस घर में अधिकतर लोग बीमार रहते है उन्हें तो इस उपाय को जरूर करना चाहिए. इस उपाय से तुरंत लाभ प्राप्त होता है.

रविवार को घर में इस चीज़ का धुँआ आपके सारे परेशानियों को हमेसा के लिए करेगा खत्म

नमस्कार दोस्तों स्वागत हैं आपका हमारे न्यूज चैनल में। दोस्त़ों हर व्यक्ति हमेशा इसी चिंता में रहता हैं की उसके जीवन से धन की कमी कब दूर होगी की उसका अच्छा समय कब आएगा कब उसको माँ लक्ष्मी जी की कृपा आएगी या कब उसके जीवन से यह दुख या द्ररिद्रता जाएगा तो देखिए ज्योतिषशास्त्र में इसके बारे में कुछ संकेत दिए गए हैं अगर आप उन संकेतों को समझ लेंगे तो आप समझ पाएंगे की आपके जीवन से अब दुख के दिन जाने वाले हैं और सुख के दिन आने वाले है तो चलिए जानते हैं कुछ संकेतों के बारे में जिससे आपको पता चल जाएगा की माँ लक्ष्मी आपके घर में विराजमान हैं आपके ऊपर कृपा बनाई रहेगी।

ऊल्लो लक्ष्मी मा का वाहन हैं और लक्ष्मी जी का वाहन यदि किसी को भी दिखता हैं तो कहते है की उस पर लक्ष्मी जी की कृपा होने वाली हैं क्योंकि जहाँ-जहाँ ऊल्लो होता हैं वहाँ मा स्वंम पीछे-पीछे आ ही जाती हैं।

अगर सुबह उठते ही आपको शंख या घंटी की आवाज कानों में सुनाई दे तो भी कहाँ जाता हैं की आपके ऊपर भगवान की कृपा होने वाली हैं यह संकेत आपको दर्शातें हैं।

जिसको भी दिखे ये 1 चीज़ सुबह चुपचाप रखे ये बात बहुत जल्दी बनोगे लक्ष्मीवान

हिंदू परिवार में घर में मंदिर जरूर होता है. घर में पूजा करने से सकारात्मक शक्ति मिलती है. घर में मंदिर को सही दिशा में रखने से घर में बरकत होती है. लेकिन सही जानकारी के अभाव में मंदिर को गलत दिशा में रखने से घर की खूशहाली नही रहती है घर में खुशहाली बनाए रखने के लिए घर में इन कोने में स्थापित करें मंदिर.

बड़े बुजुर्ग के अनुसार जहां से सुर्य उदय होता है उस तरफ ही घर का मंदिर होना चाहिए. पूर्व दिशा को काफी शुभ माना जाता है. वास्तुशास्त्र के उनुसार घर में पूजा का स्थान पूर्व दिशा में होना चाहिए उत्तर या उत्तर पूर्व में मंदिर शुभ माना जाता है. दक्षिण या पश्चिम दिशा में पूजा के स्थान को अशुभ माना जाता है.

घर में कभी कभी दो जगह पर पूजा का स्थान नहीं होना चाहिए. यह शुभ नही माना जाता है. हमेशा एक ही स्थान पर मंदिर होना चाहिए.
घर में मंदिर को कभी भी सीढ़ियो के नीचे या फिर बाथरूम के पास नहीं होना चाहिए. मंदिर के आस पास झाडू पोंछा नही रखना चाहिए. इससे घर में खुशियां और समृद्धि नही रहती है.

कहा जाता है हमेशा पूजा पूर्व या उत्तर दिशा में ही करना चाहिए. ऐसा करने से घर में धन की कभी कमी नही होती और लक्ष्मी का वास हमेशा घर में बना रहता है. मदिंर कभी भी बैडरूम में ना बनाए अगर बैडरूम में मंदिर है तो रात को मंदिर का पर्दा जरूर लाए. और कभी मंदिर की पैर कर नही सोना चाहिए.

रात को सोते समय बिस्तर के पास रखे ये 1 चीज़ शुरू हो जायेंगे अच्छे दिन

सुबह की शुरूवात जैसी होती है बाकि दिन भी उसी अनुसार बीतता है ऐसे में जरूरी है कि सुबह को बेहतर बनाया जाया .. शास्त्रों में सुबह के समय उठते ही कुछ विशेष कार्य करने की सलाह ही दी गई है। मान्यता है कि अगर सुबह उठकर जमीन पर पैर रखने से पहले आप ये कार्य कर लें तो आपका पूरा दिन बन जाएगा और हर काम-काज में सफलता मिलेगी ।आज हम आपको इसी के बारे में बताने जा रहे हैं ताकि आप भी उसका अनुसरण कर जीवन में सफलता और सुख-समृद्धी पा सकें।

प्राचीन शास्त्र भले ही आज से कई वर्षों पहले लिखे गए हों पर उनमें कही गई बातें आज भी हमारे लिए उतनी ही उपयोगी हैं.. जो कि हमे आदर्श जीवन जीन की सीख देते हैं और व्यक्ति को हर कार्य करने की उचित विधि बतलाते हैं। ऐसे में अगर हम शास्त्रों में बताए उन नियमों और आदर्शों का पालन करें तो हमारा जीवन बेहतर और सफल हो सकता है। विशेषकर अगर हम अपने दिन की शुरूवात शास्त्रों के नियमानुसार करें तो हम हमेशा सुखी रह सकते हैं। तो चलिए जानते हैं सुबह के लिए शास्त्रों में क्या नियम और आदर्श बताए गए हैं।

दरअसल शास्त्रों के अनुसार सुबह उठकर बिस्तर से जमीन पर अपने पैर रखने से पहले व्यक्ति को धरती को प्रणाम करने की बात कही गई । क्योकि शास्त्रों में भूमि को भी देवी मां माना गया है और ऐसे में जब हम धरती पर पैर रखते हैं तो उससे हमें दोष लगता है। इसलिए हमें इस दोष को दूर करने के लिए धरती को प्रणाम कर उनसे क्षमा मांगनी चाहिए और जब हम इस तरह धरती का सम्मान करते हैं तो धरती मां की कृपा हमारे घर-परिवार पर बरसती है और हमारे जीवन की मुसीबतें कम होती हैं।

आपको बता दें इस शास्त्रीय मान्यता के पीछे कुछ वैज्ञानिक तथ्य भी हैं.. जैसे कि उठते ही जमीन में पैर रखने से सेहत पर बुरा असर पड़ता है.. इसलिए जागने के साथ ही सीधे अपने पैर जमीन में नहीं रखना चाहिए.. इसकी वजह ये है कि जब हम सुबह के समय उठते हैं तो हमारे शरीर का तापमान और कमरे के तापमान में बहुत अंतर होता है। ऐसे में अगर हम उठते ही अपने गर्म पैर ठंडी जमीन पर रख देंगे तो इससे सेहत को नुकसान हो सकता है और सर्दी-जुकाम जैसी समस्या हो सकती है। इसीलिए सुबह उठने के बाद तुरंत बिस्तर से उतरने की बजाए कुछ देर बर बिस्तर पर ही बैठने की सलाह दी जाती है जिससे कि आपके शरीर का तापमान सामान्य हो सके और फिर जमीन पर पैर रखें ।

इसके साथ ही शास्त्रों में पूरे दिन को बेहतर बनाने के लिए सुबह ब्रह्म मुहूर्त में उठने की सलाह दी गई। ब्रह्म मुहूर्त सूर्योदय से ठीक पहले का समय होता है और अगर आपके लिए ये संभव ना हो तो अधिक से अधिक 6 से 7 बजे तक जरूर उठ जाना चाहिए। ऐसा करने से धर्म लाभ के साथ ही स्वास्थ्य लाभ मिलता है।धर्म लाभ की बात करें तो देवी-देवता इस काल में विचरण कर रहे होते हैं और इस समय सत्व गुणों की प्रधानता रहती है.. इसीलिए प्रमुख मंदिरों के द्वार भी ब्रह्म मुहूर्त में खोल जाते हैं और भगवान का श्रृंगार व पूजन भी ब्रह्म मुहूर्त में किए जाते है। इसलिए अगर आप इस उठकर स्नान ध्यान कर लेत हैं तो आप इस समय दिव्य वातावरण का लाभ उठा पाते हैं।

वहीं अगर स्वास्थ्य लाभ की बात करें तो ब्रह्म मुहूर्त में उठने से सौंदर्य, बल, विद्या और स्वास्थ्य की प्राप्ति होती है। विज्ञान भी कहता है कि ब्रह्म मुहुर्त में वायुमंडल प्रदूषणरहित होता है और इसी वक्त वायुमंडल में ऑक्सीजन की मात्रा सबसे अधिक होती है, जो कि फेफड़ों की शुद्धि के लिए महत्वपूर्ण होती है।साथ ही ऐसी शुद्ध वायु से मन, मस्तिष्क भी स्वस्थ रहता है। इसीलिए शास्त्रों में ब्रह्म मुहूर्त में बहने वाली वायु को अमृततुल्य माना गया है और कहा गया है कि ब्रह्म मुहूर्त में उठकर टहलने से शरीर में संजीवनी शक्ति का संचार होता है