रविवार सूर्य देव को बोलदे यह 2 नाम मांगने से पहले ही सब कुछ हाथो हाथ मिल जायेगा//sunday surydev puja

दोस्तों आज में आपको भगवान सूर्य देव का एक ऐसा चमत्कारी मंत्र बताने जा रहा हु यदि कोई व्यक्ति इस मंत्र का जाप रविवार के दिन भगवान सूर्यदेव को जल अर्पित करने से साथ साथ जाप करता है तो निश्चित ही उसकी सभी परेशानिया हमेशा के लिए खत्म हो जाती है फिर चाहे वो परेशानी धन से जुडी क्यों न हो दोस्तों इस मंत्र में इतनी सकती है यह मंत्र निर्धन को भी रातो रात धनवान बना देता है पुराणों में लिखा है की यदि कोई जातक इस मंत्र का जाप विस्वाश पूर्ण करता है तो उसके दुखो का अंत स्वयं सूर्यदेव करते है तो दोस्तों यदि आप भी किसी परेशानी से झूझ रहे है या फिर आपकी कोई मनोकामन है या फिर आप भी धन परेशानी से तंग है तो इस मंत्र का जाप आप जरूर करे निश्चित ही आपकी सभी परेशानियो का अंत हो जायेगा तो आइये दोस्तों जानते है इस चमत्कारी मंत्र के बारे में —

वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक करे

दोस्तों सबसे पहले आपको रविवार की सुबह सूर्यदेव की आराधना के लिए सुबह स्नान करने के बाद तांबे के कलश में जल भरकर सूर्यदेव को जल अर्पित करें और इस मंत्र का उच्चारण करें ऊं घृणिः सूर्य आदिव्योम।। इस मंत्र के जाप से ही आपकी सभी परेशानिया खत्म हो जाएँगी चाहे वो परेशानी आपकी धन से जुडी क्यों ने हो यह मंत्र बहुत ही सिद्ध मंत्र है और आपको बता दे की इस मंत्र में इतनी शक्ति है की मात्र इसके जाप से धन और व्यपार के सभी रस्ते खुल जाते है

सावन का अंतिम सोमवार शिव पर चढ़ा दि ये 1 चीज़ आपकी 7 पीढ़िया भी होंगी करोड़पति

ॐ नमः शिवाय दोस्तों, सावन का महीना शुरू होने वाला है, इस दौरान पूरा वातावरण शिवमय हो जाता है, लोग बढ़ चढ़ कर शिवजी की आराधना करते हैं, ऐसे में हम आपको ऐसी चार चीजों के बारे में बताने जा रहे हैं, जो शिवजी को बेहद प्रिय हैं, और जो लोग ये चीजें शिवलिंग पर चढाते हैं, भोले भंडारी उनकी हर मनोकामना पूरी करते हैं।

वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक करे

दूध

शिवलिंग पर दूध चढाने से कुंडली में चंद्रमा का दोष दूर होता है और व्यक्ति को मानसिक तनाव से मुक्ति मिलती है।

चन्दन

शिवलिंग पर चन्दन का लेप करने से मन को शांति मिलती है और व्यक्ति अपने कार्य में एकाग्र हो पता है, जिससे उसे लाभ मिलते हैं।

धतूरा

धतूरा शिव जी को सबसे अधिक प्रिय है, इसलिए इसके चढाने से कुंडली के सभी दोष स्वतः ही समाप्त हो जाते हैं, और मनोकामनाएं पूरी होती हैं।

भांग

यह भी शिवजी को बेहद प्रिय है, इसीलिए जो भी उन्हें भांग अर्पित करता है भोले भंडारी उसकी सभी इच्छाएं पूरी करते हैं।

सावन का अंतिम सोमवार खुद भगवान शिव आने वाले है इस राशि के दहलीज पर

भगवान शिव को श्रावण मास का समय अतिप्रिय है। इस माह में भगवान शिव की आराधना करने से वे जल्‍द ही प्रसन्‍न हो जाते हैं। सावन के आखिरी सोमवार को भगवान शिव को प्रसन्‍न करना जरूरी है क्‍योंकि तभी तो वे आपकी हर मनोकामना को पूर्ण करेंगें। तो आइए जानते हैं कि सावन के आखिरी सोमवार में किन उपायों से आपकी मनोरथ पूर्ण हो सकती है –

वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक करे

-सावन के आखिरी सोमवार को भगवान शंकर को कच्‍चे चावल चढ़ाने चाहिए। ये उपाय करने से धन से संबंधित आपकी सभी परेशानियां दूर होंगीं।

-सावन के आखिरी सोमवार को भगवान शिव को तिल अर्पित करने से पाप का नाश होता है।

-सावन के आखिरी सोमवार को भगवान शिव को जौ अर्पित करें। इससे आपके परिवार में सुख-शांति रहती है। तेज बुद्धि पाने की कामना है तो शक्‍कर युक्‍त दूध से शिवलिंग का अभिषेक करें।

-संतान सुख में वृद्धि करना चाहते हैं वे भगवान शिव को गेहूं अर्पित करें। सावन के महीने में शिव का प्रसन्‍न करने से संतान प्राप्‍ति की आपकी कामना अवश्‍य पूर्ण होगी।

-भगवान शिव को चमेली के फूल बहुत प्रिय हैं इसलिए सावन के आखिरी सोमवार को भगवान शिव को चमेली के फूल से शिव की आराधना करने से आपको वाहन सुख की प्राप्‍ति होगी।

-परिवार के सदस्‍यों के बीच आपसी प्रेम बढ़ाना चाहते हैं तो सावन के आखिरी सोमवार के दिन घर में गोमूत्र का छिड़काव करें और गुग्‍गल की धूप दें। इससे परिवार में मनमुटाव भी नहीं रहता है।

ये 3 राशियाँ है बहुत अधिक शक्तिशाली मत लेना पंगा खुद बजरंगबली है रक्षक

दोस्तों आज हम बात करने वाले हैं। उन 3 राशियों के बारे में जिन्हें हनुमान जी सदैव देते हैं अपना साथ। माना जाता है यह तीन राशि हनुमान जी के निकट रहती हैं। और यह तीन राशि वाले व्यक्ति हनुमान जी के परम भक्त भी माने जाते हैं। चलिए जानते हैं कौन सी है यह 3 राशि।

वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक करे

सिंह राशि, तुला राशि और मकर राशि इन तीन राशियों को हनुमान जी सदैव अपने प्रिय मानते हैं। और इन्हें सदैव अपना साथ प्रदान करते हैं। यह तीनों राशियां सूर्य देव के आराधना करती हैं। माना जाता है सूर्य देव पृथ्वी के राजा है। जिसकी वजह से यह 3 राशि बेहद ही ताकतवर मानी जाती हैं।

दोस्तों आप में से कई लोगों की यह राशि नहीं होगी वह भी अपने प्रभु की सेवा कर के ताकतवर बन सकते हैं। क्योंकि माना जाता है भगवान हमेशा ही हर किसी की मदद जरूर करते हैं।

अगर आपको आपकी राशि के बारे में और कुछ जानना है। तो आप हमें अपना सवाल कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैं। मैं जल्द से जल्द उस सवाल का जवाब देने की कोशिश करूंगा। और आप इस आर्टिकल को लाइक करके मुझे फॉलो भी करें।

सावन का चौथा अंतिम सोमवार शिवलिंग पर चढ़ा दे यह एक चीज़ बन जाओगे करोड़पति//sawan

हिन्दू धर्म में सावन के महीने का एक विशेष स्थान है। भोलेनाथ को यह समर्पित यह महीना कई वजहों से पवित्र माना जाता है। ऐसा कहा जाता है कि इस महीने में भोलेनाथ को प्रसन्न करना बहुत आसान होता है और जो भक्त इस महीने में अपनी पूजा से उन्हें प्रसन्न कर लेता है उसके सभी दुःख दूर होते है और उसकी हर मनोकामना पूरी होती है। इस महीने में भक्त अपने आराध्य देव को प्रसन्न करने के लिए उपवास रखते है और उन्हें तरह तरह की वस्तुएं अर्पण करते है।

वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक करे

भोलेनाथ को अर्पण की जाने वाली इन चीज़ों में शहद का ख़ास महत्व है। किसी भी पूजा को शुरू करने से पहले मूर्ति को शहद से स्नान करवाने का शास्त्रों में भी उल्लेख है। ऋग्वेद के अनुसार शहद में सुनहरी मधुमक्खियों की देवी भ्रमरी देवी का वास होता है। कहा जाता है कि भ्रमरी देवी ने सूखे हुए पेड़ में अमृत डाला था और पेड़ फिर से हरा-भरा हो गया था। यही कारण है कि शास्त्रों में किसी भी पूजन से पहले शहद का उपयोग करने को महत्वपूर्ण बताया गया है।

अगर आप सावन के महीने में भोलेनाथ की पूजा करने से पहले शिवलिंग को शहद से स्नान करवाते है तो आपको घर में सुख-समृद्धि आती है। इसके अलावा यह आपके आस पास के वातावरण को भी शुद्ध करता है।

घर की महिला को अन्नपूर्णा कहा जाता है। सावन का सोमवार महिलाओं के लिए ख़ास महत्व रखता है। पूजा से पहले रसोईघर घर के दरवाजे पर शहद से भरी हुई कटोरी रखना घर में सुख-समृद्धि लेकर आता है।

सावन के किसी दिन सिर्फ एक बार बोलदे यह गुप्त मंत्र रुके हुए काम दौड़ने लगेंगे//sawan

इस समय सावन का महीना चल रहा है। और सावन के महीने में वातावरण बम भोले बम भोले से गूंजता है। इस महीने में सबसे ज्यादा पूजे जाने वाले भगवान शिव जी है। शिवालयों में इस समय लोगों की बहुत भीड़ रहती है। और लोग भोलेनाथ को प्रसन्न करने के लिए तरह-तरह के उपाय करते है। दोस्तों रोज स्नान करने के बाद उस छोटे से मंत्र का जाप करने से होगी सभी मनोकामनाएं पूरी।

वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक करे

आज हम आपके लिए एक ऐसा मंत्र लेकर आए हैं जिसका जाप सुबह स्नान करने के बाद करने से आपकी सभी शारीरिक और मानसिक पीड़ा दूर होगी। और आपके जीवन के सभी दुख-दर्द और कष्ट हमेशा के लिए खत्म हो जाएंगे। इस मंत्र का जाप रोजाना सुबह जल्दी उठकर स्नान करने के बाद करना है। इस मंत्र को शिवजी का महामृत्युंजय मंत्र कहा जाता है।

महामृत्युंजय मंत्र :-ऊं त्रयम्बकं यजामहे, सुगन्धिं पुष्टिवर्धनं उर्वारुकमिव बन्धनान् मृत्योर्मोक्षिय मामृतात्।

महामृत्युंजय मंत्र के फायदे :- रोज सुबह जल्दी उठकर स्नान करने के बाद महामृत्युंजय मंत्र का जाप करने से मानसिक तनाव दूर होकर मन शांत होता है। और शारीरिक पर कष्ट दूर होते है। रोजाना इस मंत्र का जाप करना हमारे लिए शुभ होता है। और शिवजी हमेशा हमारे ऊपर अपनी कृपा बनाए रखते है। और हमारी सभी मनोकामनाएं पूरी करेंगे। इस मंत्र का जाप करने से परिवार में चल रहे विद्रोह, मनमुटाव, कोर्ट कचहरी के मामले और जीवन के अनेक दुख-दर्द और कष्ट दूर होते है।

सावन के अंतिम सोमवार चुपचाप शिवलिंग पर रखे इसे दुश्मन तो क्या खुद मृत्यु भी आपका कुछ नहीं बिगाड़ेगी

सावन का महीना भगवान शिव की आराधना का मास होता है। कहते हैं कि सावन में सच्चे मन से भगवान की पूजा करने से पूरे साल का पुण्य मिलता है। माना जाता है कि सावन में व्रत रखने पर भगवान शिव की विशेष कृपा प्राप्त होती है। एेसे में सावन के दूसरे सोमवार का अपना महत्व होता है आैर इसे विशेष फलदायी माना जाता है।

वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक करे

दूसरे सोमवार को चढ़ाएं आंकड़े का फूल

सावन के दूसरे सोमवार का विशेष फलदायी माना जाता है।माना जाता है कि इससे परिवार की स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं दूर होती हैं। सावन के दूसरे सोमवार को सुबह जल्दी उठ नहा धोकर भगवान शिव की पूजा बेलपत्र, धतूरा, भांग, शहद से करें। इस दिन शिव की पूजा आंकड़े के फूल से करें। इससे आपकी सभी मनोकामना पूरी होती है। दूसरे सोमवार को शिवलिंग पर आंकड़े का फूल अर्पित करें। इस दिन शिवलिंग पर आंकड़े का फूल चढ़ाने से भोलेनाथ सभी मनोकामना पूरी करते है साथ ही घर में सुख-समृद्धि आती है। सारे कष्ट दूर हो जाते हैं।

सावन के आखरी सोमवार शिवमंदिर से घर ले आये ये एक चीज़ चारो तरफ से आएगा धन

भगवान शिव को श्रावण मास का समय अतिप्रिय है। इस माह में भगवान शिव की आराधना करने से वे जल्‍द ही प्रसन्‍न हो जाते हैं। सावन के आखिरी सोमवार को भगवान शिव को प्रसन्‍न करना जरूरी है क्‍योंकि तभी तो वे आपकी हर मनोकामना को पूर्ण करेंगें। तो आइए जानते हैं कि सावन के आखिरी सोमवार में किन उपायों से आपकी मनोरथ पूर्ण हो सकती है

वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक करे

-उपाय-
-सावन के आखिरी सोमवार को भगवान शंकर को कच्‍चे चावल चढ़ाने चाहिए। ये उपाय करने से धन से संबंधित आपकी सभी परेशानियां दूर होंगीं।

-सावन के आखिरी सोमवार को भगवान शिव को तिल अर्पित करने से पाप का नाश होता है।

-सावन के आखिरी सोमवार को भगवान शिव को जौ अर्पित करें। इससे आपके परिवार में सुख-शांति रहती है। तेज बुद्धि पाने की कामना है तो शक्‍कर युक्‍त दूध से शिवलिंग का अभिषेक करें।

-संतान सुख में वृद्धि करना चाहते हैं वे भगवान शिव को गेहूं अर्पित करें। सावन के महीने में शिव का प्रसन्‍न करने से संतान प्राप्‍ति की आपकी कामना अवश्‍य पूर्ण होगी।

-भगवान शिव को चमेली के फूल बहुत प्रिय हैं इसलिए सावन के आखिरी सोमवार को भगवान शिव को चमेली के फूल से शिव की आराधना करने से आपको वाहन सुख की प्राप्‍ति होगी।

-परिवार के सदस्‍यों के बीच आपसी प्रेम बढ़ाना चाहते हैं तो सावन के आखिरी सोमवार के दिन घर में गोमूत्र का छिड़काव करें और गुग्‍गल की धूप दें। इससे परिवार में मनमुटाव भी नहीं रहता है।

सावन का अंतिम रविवार सूर्य देव को जल देते हुए बोले 2 शब्द मुंहमांगी इच्छा तुरंत होगी पूरी

दोस्तों यह तो हम सभी लोग जानते हैं कि सूर्य भगवान को जल चढ़ाने से हमें सकारात्‍मक ऊर्जा प्राप्‍त होती है। और साथ ही माँ लक्ष्मी की भी कृपा हम पर बानी रहती है और दोस्तों आज हम आपको एक ऐसा मंत्र के बारे में बताने जा रहे हैं जिसके उच्‍चारण से आपके बंद किस्‍मत के ताले खुल जायेगे। और यदि आपकी कोई मनोकामना है तो वह भी पूर्ण हो जाएगी साथ ही आपको कभी भी धन की कमी नहीं होगी तो आइए दोस्तों जानते है सूर्यदेव की इस चमत्कारी मंत्र के बारे में और साथ ही हमे इस मंत्र का किस प्रकार जाप करना है ये भी जान लेते है

वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक करे

दोस्तों सूर्य देव को प्रसन्‍न करने का यह एक सिद्ध मंत्र है जिसके उच्‍चारण से आपके सारे बिगड़े काम बनने लगेंगे। आपके घर और परिवार की नकारात्‍मक ऊर्जा का विनाश होता है। और घर में सुख शांति आती है।

दोस्तों राविवार के सुबह सूर्य भगवान को जल अर्पित करते समय ‘’ऊॅ घृणि: सूर्य आदिव्‍योम’’ मंत्र का उच्‍चारण करें। यह मंत्र केवल आपको सूर्यदेव को जल अर्पित करते समय 11 बार जाप करना है दोस्तों इससे आपके सारे दु:ख दर्द खत्‍म हो जायेगे। और धन आने के सारे रास्ते झूल जायँगे

सावन का अंतिम सोमवार महिलाये शिव पूजा में न करे ये गलती नहीं मिलेगा पूजा का पूरा फल

हिंदू धर्म में भगवान शिव को सबसे बड़ा माना जाता है कहा जाता है कि आज भगवान शिव ही है जो दुनिया को चलाते हैं भगवान शिव का दर्शन हम लोग हर साल सावन के महीने में करते हैं और भगवान शिव भी अपने श्रद्धालुओं से मिलने के लिए साल में एक बार सावन के महीने में आते हैं तभी तो लोग जलाभिषेक करने के लिए कांवरिया के साथ यात्रा करते हैं। लेकिन इंसानों को यह गलतियां नहीं करनी चाहिए जिससे भोले बाबा क्रोधित हो जाए चलिए आज हम आपको बता दें कि कौन सा गलती नहीं करना चाहिए।

वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक करे

ये है वो गलतियां जो आपको नहीं करना चाहिए :

तुलसी का पत्ता ना चढ़ाएं –

तुलसी का पत्ता शिवलिंग पर न चढ़ाएं क्योंकि तुलसी माता का विवाह भगवान कृष्ण से हुआ था और तुलसी का पत्ता भगवान कृष्ण के प्रसाद चढ़ाने के समय प्रयोग किया जाता है।

शिवलिंग पर हल्दी ना चढ़ाएं –

आप सभी को तो पता ही है की भगवान शिव एक अघोरी थे जो अघोरी होते हैं उन पर वह चीजें नहीं चढ़ाना चाहिए जो स्त्रियां प्रयोग करते हैं जैसे हल्दी , स्त्रियां हल्दी का प्रयोग अपने चेहरे को निखारने के लिए करते हैं।

शिव की पूजा के वक्त शंकर ना बजाएं –

आपकी जानकारी के लिए बताते हैं कि शिव पुराण में लिखा है कि भगवान शिव ने शंखचूण नाम के राक्षस का विनाश किए थे इसलिए पूजा करते वक्त शंख का प्रयोग ना करें संघ के जगह पर आप डमरु या घंटी का प्रयोग कर सकते हैं इसे भगवान बहुत ही प्रसन्न होते हैं।