चंद्रग्रहण के दिन किसी के कहने पर भी मत करने ये 4 चीज़ वरना जिंदगी भर पछताओगे

27 जुलाई के दिन इस सदी का सबसे लंबा चंद्र ग्रहण लगने जा रहा है। अभी लगने वाले चंद्रग्रहण का संयोग 104 साल बाद फिर से बना है। इससे पहले 104 साल पहले इतनी लंबी अवधि का चंद्रग्रहण लगा था। इस लेख में हम 27 जुलाई को लगने वाले चंद्रग्रहण के सूतक से समय के बारे में और सूतक काल में वर्जित काम के बारे में बता रहें है।

वीडियो देखे के लिए यहां क्लिक करे

चंद्रग्रहण 27 जुलाई की रात 11 बजकर 54 मिनट पर शुरू हो कर 28 जुलाई की सुबह 3 बजकर 5 मिनट पर समाप्त होगा। ग्रहण के समय चंद्रमा लाल रंग का दिखाई देगा।

ज्योतिषियों के अनुसार चंद्रग्रहण पूरे भारत में दिखाई देगा। 27 जुलाई को चंद्रग्रहण का सूतक दोपहर 2 बजे से शुरु हो जाएगा। सूतक से समय हमारे शास्त्रों में कई कामों को करने से मना किया गया है। ग्रहण के समय कोई भी शुभ काम नहीं करना चाहिए। ग्रहण काल में खाना न बनाएं और न खाएं। ग्रहण काल में नुकीली चीज़ से कोई काम ना करें। ग्रहण का सबसे ज्यादा प्रभाव गर्भवती महिलाएं पर और उनके होने वाले बच्चों पर पडता है इसलिए ग्रहण को सभी गर्भवती महिलाओं को नहीं देखना चाहिए। चंद्रग्रहण के पहले बच्चे बुजुर्ग और रोगी शाम के समय 5 बजकर 55 मिनट तक भोजन कर लें।

27 जुलाई को लगने वाला पूर्ण चंद्रग्रहण के समय मंगल धरती के काफी करीब आएंगा जिसके कारण चन्द्रमा पर ग्रहण को स्पष्ट देखा जा सकता है। चंद्रग्रहण के दौरान चंद्रमा नारंगी रंग के साथ लाल, भूरा व ग्रे रंग का होगा। ये ग्रहण कुछ राशियों के लिए बुरा प्रभाव छोड़ सकता है. अगर आसमान साफ है तो आप इस ग्रहण को साफ़ देख सकते हैं. चंद्रग्रहण के दौरान चांद का रंग नारंगी के अलावा ब्लड रेड, डार्क ब्राउन, डार्क ग्रे रह सकता है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *