70 साल में भी बवासीर को जड़ से ख़त्म कर देगा यह नुस्खा सिर्फ 5 दिन पीलो

बवासीर दो तरह के होते हैं.एक बाहरी बवासीर और दूसरा भीतरी बवासीर.बाहरी बवासीर में मल द्वार के बाहर मस्से होते हैं जबकि भीतरी बवासीर में मस्से मल द्वार के अन्दर होते हैं.यही जब मल त्यागते समय खून निकलने लगते हैं तो इसे खुनी बवासीर कहते हैं.ये दोनों तरह के बवासीर कष्ट देते हैं.बवासीर होने पर दर्द,जलन और खुजली होने लगता है.

वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक करे

बवासीर की बीमारी उन लोगों को ज्यादा होती है जो खान-पान पर ध्यान नही देते हैं.यजदा तीखे,अधिक तेल मसाले,मिट मछली,शराब,धुम्रपान आदि करते हैं उन्हें यह बीमारी ज्यादा परेशान करता है.कभी-कभी इतना दर्द और जलन होने लगती हैं कि व्यक्ति रोने लगता है.दर्द सहन नही कर पाता है.खुनी बवासीर में खून अधिक निकल जाने से शरीर में खून की कमी हो जाती है.इसलिए इस बीमारी को नजर अंदाज नही करना चाहिए.

परहेज-जिन्हें बवासीर की बीमारी होती है तेल,ज्यादा मसालेदार चीज,शराब,धुम्रपान,मिट,मछली,बैगन की सब्जी नही खाना चाहिए.

बवासीर को जड़ से ख़त्म करने का घरेलू उपाय-

1 .बड़ी इलायची-जिन्हें बादी बवासीर यानि बाहरी बवासीर की समस्या हो उनके लिए बड़ी इलाइची बहुत फायदेमंद साबित होती है.इसके लिए सुबह खाली पेट एक बड़ी इलाइची चबाकर कचनार छाल का क्वाथ बनाकर पीने से मस्से जड़ से ख़त्म हो जाती है.क्योंकि बड़ी इलाइची पेट साफ करता है और कचनार का क्वाथ मस्से को गलाकर ख़त्म कर देता है.

2 .नारियल की जटा-खुनी बवासीर को नारियल की जटा एक ही दिन में ख़त्म करता है.इसके लिए नारियल की जाता को जलाकर भस्म बना लें.इस भस्म को एक ग्राम की मात्रा में दही या छाछ के साथ खाने से खून आना बंद हो जाता है.

3 .अंजीर-यह बवासीर के लिए तो जैसे रामबाण है.इसके लिए 2 अंजीर रात को पानी में भिगोकर सुबह सुबह अंजीर खाकर पानी पीना चाहिए और ठीक इसी तरह सुबह 2 अंजीर भिंगोकर शाम को खाना चाहिए.इससे पेट साफ रहता है साथ ही कमजोरी दूर करता है.

4 .मुली-बवासीर खुनी हो बादी दोनों के लिए मुली का सेवन करना फायदेमंद होता है.मूली के रोजाना सेवन करने से बवासीर जड़ से ख़त्म हो जाते हैं.इसके लिए रात को सोने से पहले मूली का एक टुकड़ा खाना चाहिए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *