किसी भी स्त्री को भूलकर न बोले ये 3 शब्द वरना हो जाओगे बर्बाद

शास्त्रों के अनुसार हिन्दू धर्म में महिलाओं को देवी का दर्जा दिया गया है। स्त्रियों के बिना जीवन के अस्तित्व की परिकल्पना तक नहीं की जा सकती है। शास्त्रों में स्त्रियों को सम्मान दिया गया है और उनके खिलाफ कुछ शब्दों के इस्तेमाल को वर्जित भी रखा गया है। स्त्रियों के खिलाफ इन शब्दों का इस्तेमाल व्यक्ति को पाप का भागीदार बनाता है और इसका फल भी उसे जरूर मिलता है।
भूलकर भी स्त्रियों को नहीं बोलने चाहिए ये 3 शब्द

वीडियो देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

शास्त्रों के अनुसार स्त्री को अपशब्द बोलने वाला व्यक्ति पाप का भागिदार बन जाता है। ऐसे व्यक्ति के घर लक्ष्मी कभी निवास नहीं करती है और घर में सदैव अशांति का माहौल बना रहता है।हर स्त्री की चाहत होती है की वह सुन्दर संतान की प्राप्ति करे परन्तु ऐसा सबके भाग्य में नहीं लिखा होता है। कुछ महिलाएं बांझपन की वजह से संतान सुख नहीं प्राप्त कर पाती हैं। ऐसे में जो उस स्त्री का बाँझ कहकर तिरस्कार करता है आज पाप का भागिदार बनता है।

अगर आप भी किसी महिला को दासी समझते हैं या दासी कहकर सम्बोधित करते हैं तो ऐसा करना भी आपको पाप का भागिदार बनता है। स्त्री घर को जोड़ती है और उसे दासी कह सम्बोधित करना उन्हें अपमानित करने जैसा है इसलिए किसी भी स्त्री को दासी या नौकरानी कह कर नहीं बुलाना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *