खुनी बवासीर को एक बार में जड़ से खत्म कर देगा यह घरेलू नुस्खा//bavaseer ka ilaaj

बवासीर एक ऐसी बीमारी है जो किसी भी उम्र के व्यक्ति को हो सकती है. बवासीर होने का सबसे बड़ा कारण है कब्ज. अगर किसी को लंबे समय तक कब्ज रहे तो इससे बवासीर का जन्म होता है. बवासीर में होने वाला दर्द असहनीय होता है और बवासीर दो तरह की होती है बाहरी एवं भीतरी.

भीतरी बवासीर में मस्से अंदर होते हैं जो दिखाई नहीं देते और इस में पीड़ा अधिक होती हैं. इसमें गुड्डा के अंदर काफी खुजली आती है. जब की बाहरी मस्से दिखाई देते हैं और इनमें सूजन होती हैं और कई बार मल के साथ खून भी आता है. इसे ही खूनी बवासीर कहते हैं. तो आज हम आपको बता रहे हैं कि आपने अनार का किस तरह से प्रयोग करना है कि आपको खूनी बवासीर से छुटकारा मिल जाए.

वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक करे

अनार से हमारे शरीर में खून की कमी दूर होती हैं. पेट नरम रहता है, मूत्र लाता है और अनार का फल हृदय रोगियों को बहुत ही फायदा पहुंचाता है. अनार हमारे शरीर के प्रत्येक अंग को पोषण देता है. अनार को सबसे स्वास्थ्यवर्धक फुल माना जाता है और जो पोषक तत्वों से भरा हुआ खजाना होता है. इस फल में भरपूर मात्रा में फाइबर एवं विटामिन सी पाया जाता है. इसके इलावा इसमें एंटीआक्सीडेंट एवं एंटी एजिंग गुण पाए जाते हैं जो हमारी सुंदरता को बढ़ाता है और हमारी झुर्रियों को खत्म कर देता है. इसमें विटामिन ए , सी, ई एवं फोलिक एसिड पाया जाता है.

तो आइए जानते हैं हमें अनार का किस तरह से प्रयोग करना है और हमारी खूनी बवासीर को जड़ से खत्म करने में कैसे मदद करेगा.

आपने अनार के छिलकों को सुखाकर चूर्ण बना लेना है और इसका एक चम्मच लेना है. एक चम्मच ही चीनी लेनी है आपको और दोनों को मिलाकर पानी के साथ दिन में दो बार सेवन करना है. इससे आपको खूनी बवासीर में बहुत ही ज्यादा लाभ मिलेगा. आप अनार के छिलकों के चूर्ण का आधा चम्मच लें और इसे ताजे पानी के साथ सुबह-शाम सेवन करें इससे भी खूनी बवासीर में बहुत जल्दी आराम मिल जाता है.

आपने अनार के रस का आधा कप लेना है और इस रस के साथ मिश्री का सेवन करना है. आप चाहें तो अनार के रस में भी मिश्री को मिलाकर पी सकते हैं इससे भी आपको खूनी बवासीर में बहुत आराम मिलेगा. आप अनार के छिलकों के चूर्ण का एक चम्मच लें और इसमें एक चम्मच भूरा मिलाकर दिन में दो बार सेवन करें इससे भी आपको खूनी बवासीर में बहुत लाभ मिलेगा.

इसके इलावा आपने अनार के पेड़ के जड़ लेनी है और इसे एक गिलास पानी में अच्छे से उबाल लेना है. जब तक यह आधा ना रह जाए तब तक उबालना है और इस काढ़े में चुटकी भर सोंठ का चूर्ण मिला लेना है. इस काढ़े को दिन में दो से तीन बार सेवन करना है इससे आपको खूनी बवासीर में बहुत ही आराम मिलेगा. इसके अलावा एक मीठा अनार ले क्योंकि इसका छिलका शीतल होता है और एक कट्टा अनार लें क्योंकि इसका छिलका रुक्ष होता है. और इन दोनों छिलकों का अर्श लें. यह बवासीर में बहुत आराम पहुंचाता है. अनार के पत्तों को उबाल कर काढ़ा बना ले और इसका एक से दो चम्मच सुबह शाम पिएं इससे भी खूनी बवासीर में बहुत ही आराम मिलता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *