जन्माष्टमी के दिन भूल से भी न करे ये 4 काम//Janmashtami 2018 Puja Vidhi

दोस्तों 2 सितम्बर को कृष्ण जन्माष्टमी है इस दिन भगवान विष्णु के आठवें अवतार कृष्णजी का जन्म हुआ था दोस्तों इस बार कृष्ण जन्माष्टमी पर ठीक वैसा ही संयोग बना है, जैसा द्वापर युग में बाल गोपाल के रूप में भगवान धरती पर अवतार लिया था। इस संयोग को कृष्ण जयंती के नाम से जाना जाता है। ग्रंथो के अनुसार, भाद्रपद के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि में आधी रात यानी बारह बजे रोहिणी नक्षत्र हो और सूर्य सिंह राशि में तथा चंद्रमा वृष राशि में हों, तब श्रीकृष्ण जयंती योग बनता है। ऐसा दुर्लभ संयोग बार-बार नहीं बनता है इसलिए भूलकर भी कुछ ऐसे काम नहीं करने चाहिए, जिसके गंभीर परिणाम भुगतने पड़ें..तो आइये दोस्तों जानते है वो कोन से काम है जो हमें कृष्ण जन्माष्टमी के दिन नहीं करने है

वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक करे

किसी के साथ गलत व्यवहार ना करें

जन्माष्टमी का दिन पुण्य कार्य का है, इस दिन किसी के साथ भी गलत व्यवहार नहीं करना चाहिए। गलत व्यवहार कभी किसी के साथ नहीं करना चाहिए। शास्त्रों में गरीब या असहाय व्यक्ति को परेशान करने वाले को कभी माफ नहीं किया गया है। शनिदेव इस तरह के काम करनेवालों से जल्दी नाराज होते हैं।

वाद-विवाद ना करें

जन्माष्टमी का दिन मन को शांत रखें और ईश्वर का ध्यान करें। जन्माष्टमी के व्रत को व्रतराज भी कहा गया है, इस व्रत को करने से आपकी हर समस्या का समाधान हो जाता है। इसदिन भूलकर भी घर में वाद-विवाद नहीं करना चाहिए। इससे घर की लक्ष्मी रुष्ट हो जाती हैं।

महिलाओं का करें सम्मान

भगवान कृष्ण की पत्नी रुक्मणी मां लक्ष्मी का रूप थीं। जिस घर में महिलाओं का सम्मान नहीं होता, वहां कभी भी माता लक्ष्मी वास नहीं करती। जिस घर में माता लक्ष्मी प्रसन्न हो जाएं वहां कभी किसी चीज की कमी नहीं होती।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *