9 सितम्बर महा अमावश्या सिर्फ एक लोटा पानी और पूरी दुनिया आपके इशारो पर नाचेगी

अमावस्या हिन्दु पंचांग के अनुसार माह की 30 वीं और कृष्ण पक्ष की अंतिम तिथि होती है उस दिन आकाश में चंद्रमा दिखाई नहीं देता, रात्रि में सर्वत्र गहन अन्धकार छाया रहता है । इस दिन का ज्योतिष एवं तंत्र शास्त्र में अत्यधिक महत्व हैं। तंत्र शास्त्र के अनुसार अमावस्या के दिन किये गए उपाय बहुत ही प्रभावशाली होते है और इसका फल भी अति शीघ्र प्राप्त होता है। पितृ दोष हो या किसी भी ग्रह की अशुभता को दूर करना हो, अमावस के दिन सभी के लिए उपाय बताये गए है ।

वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक करे

आपकी आर्थिक, पारिवारिक और मानसिक सभी तरह की परेशानियाँ इस दिन थोड़े से प्रयास से ही दूर हो सकती है। हर अमावस्या को घर के कोने कोने को अच्छी तरह से साफ करें, सभी प्रकार का कबाड़ निकाल कर बेच दें। इस दिन सुबह शाम घर के मंदिर और तुलसी पर दिया अवश्य ही जलाएं इससे घर से कलह और दरिद्रता दूर रहती है ।अमावस्या पर तुलसी के पत्ते या बिल्व पत्र बिलकुल भी नहीं तोडऩा चाहिए। अमावस्या पर देवी-देवताओं को तुलसी के पत्ते और शिवलिंग पर बिल्व पत्र चढ़ाने के लिए उन्हें एक दिन पहले ही तोड़कर रख लें।

अमावश्या की रात एक लोटे में जल भरकर उसमे एक फिटकरी का टुकड़ा डाल ले तथा अब इसे आप अपने घर के दक्षिण दिशा की तरफ किसी कोने में रख दे. इस उपाय मात्र से आप पर और आपके परिवार पर से सभी नेगटिव एनर्जी समाप्त हो जायेगी तथा अगले दिन से ही जिस कार्य में भी आप अपना हाथ डालोगे उसमे सफलता अवश्य मिलेगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *