जो चाहोगे वो बन जाओगे आप गाड़ी बंगला पैसा होगा कदमो में बस ये एक मन्त्र रखो याद

हर व्यक्ति जिन्दगी में आगे बढना चाहता है, सफलता के नए शिखर पर पहुँचना चाहता है लेकिन इसके लिए जरूरी मेहनत नही कर पाता। कई बार तो व्यक्ति को पता भी नही होता है कि उसके अंदर इतनी क्षमता है कि वो अपने मेहनत के दम पर आगे बढ सकता है। आप भी इस अपने जीवन में हर वो चीज पा सकते हैं जिसे आप पाने की इच्छा रखते हैं। लेकिन कैसे? ये बताने से पहले में आपको एक कहानी सुनाता हूँ।

एक दार्शनिक अपने शिष्य के साथ एक गांव में पहुंचा। गांव के किनारे एक बहुत बड़ा खेत था जो कि देखने से बहुत हीं उपजाऊ लग रहा था लेकिन उसमे फसल नही बोई गई थी। खेत के पास हीं एक घर भी था। दार्शनिक ने उस घर का दरवाजा खटखटाया तो उस घर का मालिक अपनी पत्नी और बच्चों के साथ बाहर आया।

दार्शनिक ने देखा कि उनके पास पहनने के लिए ढंग के कपड़े भी नही थे तो वो हैरान हुआ। उसने उस व्यक्ति से पानी मांगा और रात वहीं गुजारने की इच्छा जताई। वो व्यक्ति मान गया। रात को दार्शनिक ने उस व्यक्ति से पूछा तुम्हारे पास इतनी जमीन है फिर भी तुम लोग इतने गरीब क्यों हो? वो व्यक्ति बोला कि खेती करने के लिए पैसे की जरूरत होती है जो हमारे पास नही है।

दार्शनिक ने पूछा, फिर तुम्हारा गुजारा कैसे चलता है। व्यक्ति बोला, हमारे पास एक भैंस है, जो दूध देती है। हम वो दूध बाजार में बेच देते हैं। उससे जो पैसे मिलते है उसी से हमारा खर्च चलता है। दार्शनिक कुछ नही बोला और सो गया। आधी रात को उसने अपने शिष्य को उठाया और बोला कि हमे अभी निकलना होगा लेकिन जाने से पहले इस व्यक्ति को मार कर जाना होगा।

अपने गुरू की बात सुनकर शिष्य हैरान हुआ लेकिन कुछ नही बोला। दोनों वहां से चले गए लेकिन जाने से पहले भैंस को मार दिया। इस घटना को दस साल बीत गए। दार्शनिक का शिष्य अब बड़ा आदमी बन चुका था लेकिन अभी भी उसके में उस व्यक्ति के प्रति दया थी। इसलिए अब उसने सोचा कि क्यों ने चलकर उस व्यक्ति की मदद की जाए। ये सोच कर शिष्य उस गांव में पहुँच गया।

जब वो उस व्यक्ति के घर के पास पहुँचा तो देख कर हैरान रह गया कि जहां कभी खाली जमीन हुआ करती थी वहाँ अब फलों का बाग था। वो हैरान हुआ तभी उसे सामने से वो व्यक्ति आता दिखा। उसने शिष्य को पहचान लिया और खुब आवभगत की। शिष्य ने पूछा कि ये फलों का बाग किसका है तो व्यक्ति बोला, ये बाग मेरा हीं है।

शिष्य और भी ज्यादा हैरान हुआ। उसने पूछा, अचानक ये बदलाव कैसे हुआ। तब वो व्यक्ति बोला कि जिस रात आप लोग मुझे बिना बताए चले गए थे उसी रात मेरी भैंस भी पता नही कैसे मर गई। उसके बाद कुछ दिन तक तो हमने जैसे-तैसे गुजारा किया। फिर मैने जंगल से लकड़ियां काट कर बाजार में बेचने लगा। उससे जो पैसे मिले मैने उससे कुछ फलों के बीज खरीद कर अपने बाग में लगाया।

धीरे-धीरे मैने बहुत सारे फलों के पेड़ लगा दिए। आज इस पूरे क्षेत्र में फलों की सप्लाई मेरे हीं बाग से होती है। शिष्य ने पूछा कि ये काम तुम पहले भी तो कर सकते थे तो वो व्यक्ति बोला, पहले बिना मेहनत किए मेरा गुजारा हो जा रहा था इसलिए मैने कभी इस बारे में सोचा ही नही लेकिन जब मेरी भैंस मर गई तब मैने मेहनत करने की ठानी और आज परिणाम आपके सामने है।

ये एक कहानी थी लेकिन कहानी का संदेश स्पष्ट है। हम सभी के पास कुछ कर गुजरने की क्षमता होती है लेकिन हम सभी के पास भैंस रूपी कोई ऐसी चीज होती है जो हमे मेहनत करने से रोकती है। हमे उस रूकावट को हटाकर आगे बढना है। आदमी तभी सफल होता है जब उसे अपने काम से संतुष्टि नही मिलती है। जिस दिन आप अपने काम से संतुष्ट हो गए उस दिन आप मेहनत करना बंद कर देंगे।

हमारे आस-पास ऐसे बहुत सारे उदाहरण हैं जैसे धीरूभाई अंबानी, जिन्होने पेट्रोल पंप की नौकरी छोड़कर रिलायंस जैसी कंपनी खड़ी की। अमिताभ बच्चन ने कोलकाता में शिपिंग कंपनी की नौकरी छोड़कर फिल्म में आ गए। आप खुद सोचिए अगर ये लोग अपनी नौकरी से संतुष्ट हो गए होते तो क्या आज दुनिया को सुपरस्टार और रिलायंस जैसी बड़ी कंपनी मिल पाती?

इसलिए आलस को छोड़िए और लगातार मेहनत करिए। अपने काम से तब तक संतुष्ट मत होइए जब तक आपका लक्ष्य आपको न मिल जाए। याद रखिए आपके पास खोने के लिए ज्यादा कुछ नही है लेकिन अगर सफल हो गए तो पुरी दुनिया आपको मिल जाएगी। इतना तो अब आप भी समझ गए होंगे कि बिना मेहनत के कुछ हासिल नही होता है और आपके अंदर मेहनत करने की भरपूर क्षमता है बस आपको अपने कंफर्ट को छोड़ना होगा, अपने आलस का त्याग करना होगा। फिर आपको बड़ा आदमी बनने से कोई नही रोक सकता।

ऐसे 4 लोगों को कभी नहीं होती पैसों की कमी लक्ष्मी का होता है वरदान

https://youtu.be/OUFm80uRsYs

खर मास 16 दिसंबर से भूल से भी ना करें 14 जनुअरी तक ये काम वरना होंगे बर्बाद

https://youtu.be/60MVTmTYcaY

आने वाला सप्ताह इन 4 राशिओ के दिल में खिलने वाला है प्यार का फूल

https://youtu.be/E3VQ7_tv_ds

दूध उबलकर यदि गिर जाए जमीन तो समझ जाए आप भी है..

दूध का पीना स्वास्थ्य के लिए जितना लाभदायक होता है उतना ही दूध से जुड़े शकुन-अपशकुनों का वास्तु और ज्योतिष शास्त्र में महत्व बताया गया है। सुबह दूध के दर्शन करना वास्तुशास्त्र में बहुत ही शुभ माना जाता है। वास्तु सिद्धांत के अनुसार दूध सुख और संपन्नता का प्रतीक होता है और इस पर चन्द्रमा का अधिपत्य होता है।

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार व्यक्ति के जीवन पर चंद्रमा का बहुत ही प्रभाव पड़ता है। अगर चंद्रमा सही हो तो व्यक्ति सुखी और प्रसन्न रहता है। वहीं चंद्रमा के बिगड़ने पर व्यक्ति परेशानियों में घिर जाता है। आइए जानते हैं चंद्रमा कैसे व्यक्ति के विपरीत हो जाता है …..

सभी घरों में सुबह-शाम दूध उबाला जाता है, जब दूध उबलता है तो चंद्रमा और मंगल के मिलने से लक्ष्मीनारायण योग की उत्पत्ति होती है। वहीं अगर दूध उबलते समय गिर जाता है तो इससे वास्तुदोष उत्पन्न होता है।

ये वास्तुदोष व्यक्ति के जीवन में अनेक तरह की परेशानियां लेकर आता है। व्यक्ति को मानसिक, आर्थिक आदि समस्याओं से गुजरना पड़ता है।

आज ही कर निम्बू का ये उपाय नौकरी में होगा प्रमोशन अधिकारी भी मानेगा बात

शास्त्रों में बताया गया है क्रोध करने से व्यक्ति को नर्क की प्राप्ति होती है। अक्सर हम छोटी-मोटी चीजों को लेकर क्रोधित हो जाते हैं जिसके कारण हम कई लोगों को अपशब्द और गाली दे देते हैं। घर में कलेश का माहौल बने रहने से, धन की देवी लक्ष्मी जी उस व्यक्ति और घर से दूर हो जाती हैं।
जो व्यक्ति साधु-संतों और शास्त्रों का अपमान करता है तो उसको जीवन में हमेशा नुकसान ही उठना पड़ता है ऐसे व्यक्ति से माता लक्ष्मी हमेशा के लिए दूर हो जाती हैं।
जिन लोगों की आदत सूर्योदय के बाद उठने और सूर्यास्त के समय सोने की होती है उनसे धन की देवी लक्ष्मी रूठ जाती है। शास्त्रों में ऐसे लोगों के बारे में कहा गया है ऐसे लोग राक्षस प्रवृति के होते हैं। अक्सर इस तरह के लोग किसी ना किसी बीमारी से परेशान रहते हैं।

जो व्यक्ति हमेशा गंदे कपड़े पहनता हो और अपने घर में गंदगी रखता है ऐसे व्यक्ति पर धन की देवी माता लक्ष्मी की कृपा कभी भी नहीं होती है।

सुबह और शाम को अगर घर में दीया ना जलाया जाए, तो माता लक्ष्मी क्रोधित हो जाती है और इस तरह के घर को एवं व्यक्ति का त्याग कर देती हैं।

घर में रोज जलाएं ये 1 चीज़ फ़क़ीर से फ़क़ीर भी बनेगा अमीर

https://youtu.be/0DPFodJdRsM

अगर आपका भी चल रहा है बुरा समय तो रात में करें ये 1 काम छूमंतर भागेगी सारी परेशानियाँ

https://youtu.be/5-fCP-1tra8

दूध में थोड़ा सा तिल चढ़ा दे शिवलिंग पर बुरे से बुरा दिन बदल जायेगा अच्छे दिन में

नमस्कार दोस्तों, अगर आपके आज कल अच्छे दिन नहीं चल रहे हैं और आप अपने बुरे दिनों को अच्छे दिनों में बदलना चाहते हैं। तो दोस्तों आज हम आपको कुछ ऐसे उपाय बताने जा रहे हैं। जिनसे आप का बुरा समय बहुत जल्दी अच्छे दिनों में बदल जाएगा। आप की सभी परेशानियां समाप्त हो जाएंगी। तो दोस्तों चलिए जानते हैं कि वह कौन से उपाय हैं।

दोस्तों सोमवार के दिन हर रोज एक लोटे में शुद्ध साफ जल भरें और उसमें थोड़े काले तिल डाल दीजिए। अब इस जल को शिवलिंग पर ओम नमः शिवाय मंत्र का जाप करते हुए चढ़ा दीजिए। ऐसा करने से कुछ ही दिनों में आपको इसका फल दिखने लगेगा। इसके साथ – साथ दूध में काले तिल मिलाकर पीपल पर चढ़ाने से बुरा समय दूर हो जाता है।

रोज सुबह नहाने के पानी में काले तिल मिलाकर नहाएं। इस उपाय को करने से आपका दुर्भाग्य बहुत जल्दी दूर हो जाएगा। इसके साथ – साथ हर शनिवार को काले तिल और काले उड़द को काले कपड़े में बांधकर किसी गरीब को दान कर दें। इससे आपकी धन से जुड़ी सारी परेशानियां समाप्त हो जाएंगी। दोस्तों अगर आप पर शनि की साढ़े साती और ढैय्या का समय चल रहा है। तो किसी पवित्र नदी में 5 शनिवार काले तिल को प्रवाहित कर दें। इस उपाय को करने से शनि के दोषों से छुटकारा मिल जाता है और दुर्भाग्य दूर हो जाता है।

रोज ये 4 काम जो भी करे उसे दुःख और गरीबी कभी छू भी नहीं सकती

हर इंसान अपने जीवन में सफल बनना चाहता है। सभी चाहते हैं कि वह सौभाग्यशाली बने, दरिद्रता उनके घर से दूर रहे। घर में हमेशा सुख-शांति बनी रहे। लेकिन असल में ऐसा हो पाना काफी मुश्किल है, इंसान के जीवन में उतार-चढ़ाव तो बना ही रहता है। लेकिन अगर इसका हल ढूंढे तो शास्त्र एक ऐसा माध्यम है जिसमें हर समस्या का समाधान होता है और यहां पर आज हम आपको शास्त्रों के माध्यम से ही कुछ ऐसे उपाये बताने जा रहे हैं जिसे करने के बाद आपके जीवन से दरिद्रता और दुःख हमेशा के लिए दूर हो जाएंगे। तो चलिए जानते हैं कौन से वह उपाये हैं?
भोजन करने से पहले कुत्ते या गाय के लिए एक रोटी निकाल दें। आपको कभी भी आर्थिक समस्याओं का सामना नहीं करना पड़ेगा।
गुरूवार ही नहीं, बल्कि हर दिन केले के पेड़ में जल चढ़ाएं और घी का दीया जलाएं तो मां लक्ष्मी की कृपा आप पर बनी रहेगी।
जब भी खाना खाने बैठें तो ध्यान रहे कि आप उत्तर की ओर मुंह करके बैठे हों, इससे घन के साथ-साथ आयु भी बढ़ती है।
लक्ष्मी जी पर चढ़ाए गए अक्षत को छोटे से कागज के टुकड़े में बांधकर अपने पर्स में रखें, इससे कभी पैसों की कमी महसूस नहीं होगी।
प्रत्येक गुरुवार को तुलसी के पौधे में दूध अर्पित करने से आर्थिक संपन्नता में वृद्धि होती है।
शुक्ल पक्ष की पंचमी को घर में श्रीसूक्त की ऋचाओं के साथ आहुति देने से भी दरिद्रता दूर होती है।
महीने के पहले बुधवार को रात में कच्ची हल्दी की गांठ बांधकर भगवान कृष्ण को अर्पित करें। अगले दिन उसे पीले धागे में बांधकर अपनी दाहिनी भुजा में बांध लें।
गूलर की जड़ को कपड़े में लपेटकर, चांदी के कवच में डालकर गले में पहनने से भी आर्थिक संपन्नता आती है।
अपनी तिजोरी में 9 लक्ष्मीकारक कौड़ियां और एक तांबे का सिक्का रखने से आपकी तिजोरी में धन हमेशा भरा रहेगा।