भगवान राम 4 भाई नहीं बल्कि 5 भाई बहन थे

https://youtu.be/UD0fNjH8d14

एक गिलहरी ने कराया कई हजार लोगो को समुद्र पार आखिर कैसे जाने ?

https://youtu.be/lbuqrwKMxVw

आज रात कागज में यह लिखकर जला दे मांगने से पहले ही सब कुछ मिल जायेगा

आजकल हर किसी की जिंदगी परेशानियों और कठिनाईयों से उलझी हुई है जिनसे बचने के लिए लोग तरह तरह के उपाए करते है आज हम आपको बताएंगे बहुत सरल और आसान अचूक उपाय के बारे में इसे करने से आप अपने जीवन की परेशानिया तो कम कर ही सकते है इसके साथ ही किसी भी चीज़ की आपको इच्छा है या मनोकामना है वह भी पूरी जरूर होती है.

वैसे तो यह प्रयोग कई तरह से भी किया जाता है परन्तु जीवन में परेशानियों को कम करने तथा मनोकामना पूर्ण करने के लिए उपाय बहुत ही अचूक है. परन्तु इस उपाय को करने से पहले हम आपसे यह बात जरूर कहेंगे की पहले आप इस उपाय को ध्यान पूर्वक समझे तथा ठीक उसी प्रकार करे जैसा हम आपको बता रहे है. यह प्रयोग आपको शाम के समय करना है.

अगर आप अपना कुछ समय निकालकर शांति से यह उपाय करेंगे तो यह आपके लिए बहुत ही अचूक सिद्ध होगा. दोस्तों चाहे आप कैसे भी परेशानी में फसे होते है या आपकी कोई भी मनोकामना होती है तो इसे उपाय के माध्यम से आप को तुरंत फल देखने को मिलता है. दोस्तों वैसे तो परेशानी सभी को होती रहती है परन्तु काफी लम्बे समय तक परेशानी में फसे रहना भी एक परेशानी है . लम्बे समय से परेशानी में रहने के कारण आप बहुत सी समस्याओ से घिर जाते है जिसकी वजह से आप टूटने लगते है. ऐसे में ना तो आप अपने जीवन में कोई सफलता प्राप्त कर पाते है और ना आपका मन शांत रहता है.

इसलिए दोस्तों जो उपाय आज हम आपको बताएंगे उसे यदि आप कर ले तो आपको बिलकुल भी परेशान होने की जरूरत नहीं है. आपकी कोई भी परेशानी या मनोकामना है उसे आपने एक सफेद कागज में लिख लेना है. जैसी भी आपकी इच्छा है आपको उस कागज में लिखना है. इसके बाद आप थोड़ी सी गूगल और लोबान लेकर गाय के उपले के ऊपर जला ले. यदि आपको गाय के उपले ना मिले तो आप थोड़ा थोड़ा लोबान एवं गूगल किसी भी चीज़ में जला सकते है.

किसी भी लोहे के चीज पर आप जब इन दोनों चीज़ो को रखेंगे और उसे जलाएंगे तो ये उसी प्रकार जलता है जैसे धुप बत्ती जलती है. उसी धुप के साथ आपको वह कागज जिसमे आप ने अपनी परेशानी या कोई भी इच्छा लिखी जला दे. इसके साथ यह प्रयोग आपको अपने घर के अंदर ही करना है तथा भगवान की फोटो रखकर ही आपको यह प्रयोग करना है. ये फोटो भगवान विष्णु तथा माता लक्ष्मी की होनी चाहिए.

और जब आप यह धुप जला देंगे उसके बाद आपको अपनी दोनों आँखे बंद करके जो भी आपने उस कागज में लिखा है उसे अपने मन में दोहरा ले और आधे घंटे तक आपको वही अपने मन में उसे दोहराते रहना है. अगर आप चाहे तो आप इसे 15 मिनट के लिए भी कर सकते है. यह उपाय आप 7 बजे के आस पास शाम के समय करे. इस प्रयोग को करने से दोस्तों आपको इसके बदलाव दिखने लगेंगे.

आपके जीवन में सुख समृद्धि आपकी तरफ आकर्षित होने लगेगी तथा आपकी जो भी इच्छा है वह पूरी होगी. आपकी परेशानी दुःख दूर होने लगेंगे. लेकिन दोस्तों उपाय आपको उसी प्रकार करना है जिस प्रकार हमने आपको बताया है.

सुबह उठते ही बोल दे ये नाम 24 घंटे के अंदर दौड़ेंगे सारे रुके काम

https://youtu.be/ZRx5Qk8JSbA

हनुमान कवच मन्त्र आज रात सोने से पहले सिर्फ मन में बोले और सुबह देखे चमत्कार

https://youtu.be/h7nbTOka770

तुलसी के निचे चुपचाप रख दे इसे मांगने से पहले ही सब कुछ मिल जायेगा आपको

घर की गरीबी दूर करने के लिए शास्त्रों में कई उपाय बताए गए हैं, इन उपायों का पालन करने पर घर में सुख-समृद्धि बनी रहती है। ऐसा ही एक उपाय है तुलसी की जड़ के पास शालिग्राम (एक पत्थर) रखकर रोज पूजा करना। शालिग्राम को भगवान विष्णु का स्वरूप माना जाता है। जिन घरों में तुलसी के साध शालिग्राम की पूजा की जाती है, वहां दरिद्रता नहीं आ पाती। यहां जानिए शालिग्राम से जुड़ी खास बातें…

– शालिग्राम नेपाल की गंडकी नदी के तल से प्राप्त होते हैं। शालिग्राम काले रंग के चिकने, अंडाकार पत्थर को कहते हैं।
– इसे स्वयंभू माना जाता है यानी इनकी प्राण प्रतिष्ठा की आवश्यकता नहीं होती। कोई भी व्यक्ति इन्हें घर या मंदिर में स्थापित करके पूजा कर सकता है।
– शालिग्राम अलग-अलग रूपों में मिलते हैं। कुछ अंडाकार होते हैं तो कुछ में एक छेद होता है। इस पत्थर में शंख, चक्र, गदा या पद्म से निशान बने होते हैं।

घर में शालिग्राम रखने के फायदे
1. भगवान् शालिग्राम की पूजा तुलसी के बिना पूरी नहीं होती है और तुलसी अर्पित करने पर वे तुरंत प्रसन्न हो जाते हैं।
2. शालिग्राम और भगवती स्वरूपा तुलसी का विवाह करने से सारे अभाव, कलह, पाप, दुःख और रोग दूर हो जाते हैं।
3. तुलसी शालिग्राम विवाह करवाने से वही पुण्य फल प्राप्त होता है जो कन्यादान करने से मिलता है।
4. पूजा में शालिग्राम को स्नान कराकर चंदन लगाएं और तुलसी अर्पित करें। भोग लगाएं। यह उपाय तन, मन और धन सभी परेशानियां दूर कर सकता है।

5. विष्णु पुराण के अनुसार जिस घर में भगवान शालिग्राम हो, वह घर तीर्थ के समान होता है।
6. ब्रह्मवैवर्तपुराण के प्रकृतिखंड में बताया है कि जहां भगवान शालिग्राम की पूजा होती है, वहां विष्णुजी के साथ महालक्ष्मी भी निवास करती हैं।
7. पूजा में शालिग्राम पर चढ़ाया हुआ भक्त अपने ऊपर छिड़कता है तो उसे तीर्थों में स्नान के समान पुण्य फल मिलता है।
8. जो व्यक्ति शालिग्राम पर रोज जल चढ़ाता है, वह अक्षय पुण्य प्राप्त करता है।
9. शालिग्राम को अर्पित किया हुआ पंचामृत प्रसाद के रूप में सेवन करने से सभी पापों से मुक्ति मिलती है।
10. जिस घर में शालिग्राम की रोज पूजा होती है, वहां के सभी दोष और नकारात्मकता खत्म होती है।

शालिग्राम शिला खरीदने के लिए निचे लिंक पर क्लिक करे

ओरिजनल शालिग्राम शिला

आज भी जिंदा हैं भगवान श्री राम के वंशज, खरबों की संपत्ति हैं इनके पास, जानिए विस्तार से

आपको जानकर हैरानी हो सकती है कि भगवान भगवान राम के वंशज आज भी जिंदा हैं। अयोध्या में जन्मे राम का इतिहास हर किसी को मालूम है। लेकिन ये बात शायद ही किसी को मालूम हो कि सदियों बाद भी भगवान राम के वंशज आज भी जिंदा हैं। रामायण के अनुसार, रामजी को अपनी सौतेली मां के वचन के कारण 14 वर्षों का वनवास काटना पड़ा था। 14 वर्षों के वनवास और रावण का वध करने के बाद भगवान राम अयोध्या लौट आये और वहां के राजा बने। लेकिन, इसके बाद की कहानी शायद ही किसी को मालूम हो। इसी बीच एक राज घराने ने खुद को भगवान राम का वंशज होने का दावा किया है।

हमारे देश के राजा अपनी आन-बान और शान के लिए दुनिया भर में प्रसिद्ध हैं। वैसे तो आजादी के बाद राजा और राजघरानों की पंरंपरा लगभग समाप्त हो गई लेकिन उनके वंशज आज भी मौजूद हैं। राजघरानों से ताल्लुक रखने वाले ये वंशज आज भी राजाओं की तरह ही जीवन जीते हैं। हम सभी जानते हैं कि 15 अगस्त 1947 को देश को अंग्रेजों से आजादी मिलते ही राजशाही परंपरा खत्म हो गई थी। लेकिन, इसके बावजूद आज भी देश में कई राज परिवार मौजूद हैं।

सुहागन स्त्रियाँ यदि इस तरह पहने चूड़ियाँ पति रातोरात बन जाता है करोड़पति

दोस्तों आप सभी जानते है की कितना महत्वपूर्ण होता है एक सुहागिन स्त्री के लिए उसके हाथ में पहनी चूड़ियाँ. दोस्तों आज हम आपको चूडियो से संबंधित कुछ ऐसी बात बताने जा रहे है जो आपके साथ साथ आपके पति को भी धनवान बना देगी. इसलिए दोस्तों इस वीडियो को आप अंत देखे ताकि इसका पूर्ण लाभ आप उठा पाए. सबसे पहले तो आप ये बात गाँठ बांध ले की किसी भी सुहागन स्त्री को ताम्बे का आभूषण नहीं पहनना चाहिए.

विशेषकर अंगूठी और चुडी तो बिलकुल भी नहीं. अक्सर महिलाये अपने साडी की मैचिंग की चुडिया पहनती है. और कभी वे चुडिया अचानक से टूट जाती है. ऐसे में आप उन्हें सीधे कहि भी ना फेके. क्योकि वह आपके सुहाग की निशानी है इसलिए आप उन चूडियो को पहले 3 बार अपने मस्तक में लगाए फिर किसी कागज या पन्नी में लपेटकर आप इसको डस्टबिन में डाल सकते है. ऐसा करने से आपके सुहाग को परेशानियों का समाना नहीं करना पड़ता.

कभी कभी चटकी हुई चूड़ियाँ भी आ जाती है और जो हलकी सी चटकी होती है और उसे स्त्रियाँ अपने हाथो में पहन लेती है परन्तु ऐसा आपको बिलकुल भी नहीं करना चाहिए क्योकि यह आपके पति के लिए दुर्भाग्य लेकर आता है. इसके साथ ही ज्योतिष में यह भी बताया गया है की महिलाओ के दोनों हाथ में एक बराबर चुडी नहीं होती चाहिए. यानी की दाए हाथ में आपने जितनी चुडिया पहनी है बाए हाथ में आप एक दो चूड़ियाँ अधिक पहने.

यदि आप ऐसा करती है तो आपके पति की आर्थिक स्थिति मजबूत होती है. अर्थात आपके पति को धन लाभ होने लगता है. स्त्रियों को कभी भी बाल खोलकर चूड़ियाँ नहीं पहननी चाहिए. आप पहले बालो में कंघी कर बाल बना ले फिर आप अपने हाथो में चूड़ियाँ पहनने. यदि आप ऐसा नहीं करती तो इससे आपके पिता और भाई पर कर्ज बढ़ता है. दोस्तों स्त्रियों के क्रियाओ का असर ससुराल और मायके दोनों जगह पड़ता है.

शिव कीर्तन में ऐसे ना बजाए ताली वरना शिव का क्रोध कर देगा बर्बाद

धार्मिक मान्यतानुसार पूजा-पाठ से व्यक्ति की जिंदगी की मुश्किलें आसान हो जाती हैं। लेकिन इस दौरान कुछ सावधानियां बरतनी बेहद जरुरी हैं। सही विधि-विधान के साथ पूजा न करने पर परिणाम उल्टा पड़ सकता है। शिव मंदिर में गलत समय पर ताली बजाने से भगवान शंकर आपसे क्रोधित हो सकते हैं। आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि किस समय शिव मंदिर में ताली बजाने पर आपके जीवन में तूफान आ सकता है।

जानिए किस वक्त शिव मंदिर में न बजाए ताली
पुराणों के अनुसार शिव मंदिर में केवल सायंकाल की आरती के समय ही ताली बजाना चाहिए क्योंकि भगवान शंकर पूरा समय ध्यान में रहते है और दिन में ताली बजने से उनके ध्यान में विघ्न उत्पन्न होता है, जिससे उनके गण रुष्ट हो जाते है और परिणामस्वरुप आपको उनके कोप का भाजन करना पड़ सकता है और मुसीबतों का सामना करना पड़ सकता है।

धार्मिक दृष्टिकोण से देखा जाए तो आरती के दौरान ताली बजाने से व्यक्ति के हाथों से बुरी रेखाएं मिटने लगती हैं और अच्छी रेखाओं का निर्माण होता है। पूजा के दौरान भगवान से प्रार्थना करते हुए मनोकामना पूर्ति के लिए ताली बजाने का खास महत्व दिया जाता है, विशेषकर भगवान शिव की पूजा में शिवलिंग पर जल अर्पण और पूजा समाप्ति के बाद ताली बजायी जाती है।

पत्नी यदि इन 3 में करले कोई 1 उपाय पति के लिए खुल जाते है धन आने के सारे रास्ते

किसी भी पतिव्रता पत्नी में इतनी ताकत होती है कि अगर वो चाहे तो अपने पति की बिगड़ी किस्मल एक पल में चमका दे . अगर किसी व्यक्ति को कुंडली के ग्रह दोषों की वजह से परेशानियां का सामना करना पड़ रहा है तो उसे ज्योतिष में बताए गए उपाय करते रहना चाहिए। साथ ही, पत्नी भी शुभ करेगी तो पति की बुरी किस्मत भी बदल सकती है। उज्जैन इंद्रेश्वर महादेव मंदिर के पुजारी और ज्योतिर्विद पं. सुनील नागर के अनुसार पति-पत्नी का भाग्य एक साथ जुड़ा रहता है। अगर दोनों में से कोई एक गलत काम करता है तो उसका फल दोनों को ही मिलता है। ठीक इसी प्रकार शुभ काम करने से दोनों को ही लाभ मिल सकते हैं।

पहला उपाय

रोज सुबह जल्दी उठें और स्नान के बाद तुलसी को जल चढ़ाएं। इसके बाद गुलाब या गेंदे के फूल पर कुमकुम, चावल लगाकर तुलसी को चढ़ाएं। पति की परेशानियां दूर करने की प्रार्थना करें। इस उपाय से पति को शुभ फल मिल सकते हैं।

दूसरा उपाय

शनिवार को सरसों के तेल में मीठे भजिए बनाएं। ये भजिए किसी गरीब को खिलाएं। इस उपाय से शनि के कारण आ रही परेशानियां दूर हो सकती हैं।

तीसरा उपाय

सूखे नारियल (खोपरा) के आधे भाग में चीनी भरकर किसी पीपल के नीचें रख दें। भगवान से वैवाहिक जीवन सुखी बनाने की प्रार्थना करें।

चौथा उपाय

रोज शिवजी के साथ माता पार्वती की पूजा भी करें। माता पार्वती को सिंदूर चढ़ाएं। इस उपाय से सौभाग्य बढ़ता है।

पांचवां उपाय

समय-समय पर किसी किन्नर को धन का दान करें। किन्नर की दुआओं से सभी मुसीबतें टल सकती हैं।